बड़ी खबर। SDG रैंकिंग में उत्तराखंड का शानदार प्रदर्शन, इन बड़े राज्यों को पीछे छोड़ा

 

मनीष डंगवाल। दुनिया के देशों के लिए UN द्वारा निर्धारित SDG रैंकिंग में भारत की रैंकिंग को लेकर रिपोर्ट नीति आयोग ने जारी कर दी है। इस रिपोर्ट में उत्तराखंड ने शानदार प्रदर्शन किया है। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने गुरुवार को भारत का एसडीजी इंडेक्स का तीसरा संस्करण जारी किया। इस इंडेक्स में भारत के सभी राज्यों में शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर बनाई गई रैंकिंग में उत्तराखंड ने कई बड़े राज्यों को पीछे छोड़ दिया है।

शिक्षा की गुणवत्ता की रैंकिंग में उत्तराखंड देश में चौथे स्थान पर है। केरल पहले स्थान पर है। उत्तराखंड के चौथे स्थान पर पहुंचने राज्य के लिए एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। देश भर शैक्षणिक गुणवंत्ता के मामले में केरल 100 में से 80 अंक के साथ पहले स्थान पर है तो वहीं 74 अंक के साथ हिमाचल दूसरे तो गोवा 71 अंक के साथ तीसरे और और 70 अंक के साथ उत्तराखंड 4 स्थान पर है। 29 अंक के साथ बिहार राज्यों की सूची में अंतिम पायदान पर है।

केेंद्र शासित प्रदेशों की बात करें तो चंढ़ीगढ पहले, दिल्ली दूसरे और जम्मू कश्मीर और लद्दाख एक साथ केंद्र शासित प्रदेशों की सूची में 49 अंक के साथ संयुक्त रूप से निचले पायदान पर है। खास बात ये है सभी देशों में भी ये सर्वे किया गया है जिसमें भारत को 57 अंक हासिल हुआ वहीं उत्तराखंड को 70 अंक हाासिल हुए हैं। इस लिहाज से देखें तो राष्ट्रीय औसत में भी उत्तराखंड 13 अंक आगे खड़ा है।

शिक्षा सचिव ने जताई खुशी

दरअसर नीति आयोग के द्वारा 2030 तक राज्यों को शिक्षा के क्षेत्र में क्या बेहतर करना चाहिए। इसे लेकर ये सर्वे किया गया है। संयुक्त राष्ट्र के द्वारा दुनिया के देशों के लिए अलग अलग क्षेत्रों के लिए निर्धारित मानकों के आधार पर किए जा रहे क्रियान्वयन को आधार बनाते हुए ये रैंकिंग तय की जाती है। इन्ही मानकों को निर्धारित कर राज्यों को बेहतर काम करने के लिए सुझाव दिए जाते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों की संख्या पर शिक्षकों की नियुक्ति, बोर्ड परीक्षाओं के परीक्षा परिणाम, छात्रों को स्कूलों में मिलने वाली सुविधाओं समेत कई मानकों को इसमें शामिल किया जाता है। इस रैंकिंग में देश भर में उत्तराखंड के चौथे नम्बर पर आने को लेकर शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने शिक्षा विभाग के सभी अधिकारियों, शिक्षकों और छात्रों को धन्यवाद दिया है। मीनाक्षी सुंदरम ने कहा है कि देश भर में हुए इस सर्वे में उत्तराखंड चौथे स्थान पर रहा है। वहीं समग्र शिक्षा के उपर निदेशक मुकल सति का कहना है कि नीति आयोग के द्धारा किए गए सर्वे में उत्तराखंड का चौथे स्थान पर आने शिक्षा विभाग के अधिकारियों, शिक्षकों और छात्रों का मनोबल बढ़ा है। जिन मानकों पर हम कुछ पीछे हैं, हमारी कोशिश होगी कि उन कमियों को दूर करते हुए, बेहतर राज्य उत्तराखंड शिक्षा के क्षेत्र में बने।

ये है SDG 

साल 2015 में संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly – UNGA) में सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने विकास के 17 लक्ष्यों को आम सहमति से स्वीकार किया। UN ने विश्व के बेहतर भविष्य के लिए इन लक्ष्यों को महत्वपूर्ण बताया और साल 2030 तक इन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए क्रियान्वयन की रूपरेखा सदस्य देशों के साथ साझा की।

17 सतत विकास लक्ष्य (SDG) और 169 उद्देश्य सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा के अंग हैं जिसे सितंबर 2015 में संयुक्त राष्ट्रमहासभा की शिखर बैठक में 193 सदस्य देशों ने अनुमोदित किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here