उत्तराखंड: आसमान से बरस रही बर्फीली आफत, बढ़ी लोगों की मुश्किलें

देहरादून: पिछले 24 घंटे से बारिश और बर्फबारी लगातार जारी है। जहां मैदानी इलाकों में बारिश हो रही है। वहीं, पहाड़ी इलाकों में लगातार बर्फबारी हो रही है। इससे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है। जनजीवन प्रभावित हुआ है। चुनाव प्रचार तो प्रभावित हुआ ही है। पोलिंग पार्टियां भी मुश्किल में हैं और आम लोगेां के साथ ही पर्यटक भी परेशान हैं।

कई जगहों पर स्थानीय लोग रास्तों में फंस गए हैं। एसडीआरएफ और पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ गईं। उन्होंने भारी बारिश और बर्फबारी के बीच फंसे कई लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू आपरेशन तेज कर दिया। टीम ने कई जगहों पर फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला।

मौसम के मिजाज इनदिनों तल्ख हैं। भारी बारिश और बर्फबारी से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। कई जगहों पर पर्यटकों, पोलिंग पार्टी और स्थानीय लोगों के फंसने की खबरें भी आ रही हैं। ऐसे में एसडीआरएफ भी पूरी तरह से अलर्ट मोड में आ गई है।

एसडीआरएफ मुताबिक चमोली जिले के दीवालीखाल क्षेत्र में बर्फबारी के कारण फंसे छह लोगों का टीम ने रेस्क्यू किया। वहीं, दूसरी ओर सोनप्रयाग पुलिस को जानकारी मिली कि त्रिजुगीनारायण मंदिर से करीब तीन किलोमीटर नीचे कुछ लोग बर्फ में फंस हुए हैं। मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम ने दो लोगों को वहां से निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

एसडीआरएफ को अल्मोड़ा जिले के मचखली इलाके में कुछ लोगों के फंसे होने की भी सूचना मिली थी। इस पर अधिकारी मौके पर पहुंचे और राहत-बचाव अभियान में जुट गए हैं। कई जगहों पर राहत और बचाव कार्य अभी भी जारी है। 15 पोलिंग पार्टियां बर्फबारी के चलते गंतव्य तक पहुंचने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी। गढ़वाल मंडल के चमोली जिले में नौ पोलिंग पार्टियां और रुद्रप्रयाग जिले में दो पोलिंग पार्टियां बर्फबारी में फंस गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here