उत्तराखंड : मुआवजा लेने के बाद भी खाली नहीं की दुकानें, प्रशासन ने चलवा दी जेसीबी

 

लालकुआंः हल्दूचैड़ में नेशनल हाईवे चैड़ीकरण के लिए अधिग्रहित भूमि से कब्जा न हटाने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजदूगी में अतिक्रमियों के अतिक्रमण पर जेसीबी चालाई गई। दुकानदारों ने विरोध करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस, प्रशासन के सामने दुकानदारों की एक नहीं चली। अधिकारियों की मौजूदगी में दुकानों और प्रतिष्ठानों को ध्वस्त कर दिया गया। आनन-फानन में दुकानदारों को अपना सामान निकालकर भागना पड़ा।

हल्दूचैड़ में नेशनल हाइवे प्राधिकरण मार्ग चैड़ीकरण के लिए अधिग्रहीत भूमि का दुकानदारों व प्रतिष्ठान स्वामियों को पूर्व में ही मुआवजा दे चुका है। मुआवजा देने के बाद हाईवे प्राधिकरण दुकानदारों को दुकान व प्रतिष्ठान खाली करने के लिए दो बार नोटिस जारी कर चुका है। लेकिन, दुकानदार हाईवे प्राधिकारण के नोटिस को दरकिनार करते चले आ रहे थे। प्राधिकरण ने 15 दिसंबर तक दुकान खाली करने का अंतिम समय दिया था।

बावजूद दुकानदारों ने अतिक्रमण नहीं हटाया था। तहसीलदार नितेश डागर ने पुलिस बल की मौजूदगी में नेशनल हाईवे पर बनी दुकानों व प्रतिष्ठानों पर जेसीबी चलवा दी। कई दुकानों के सामान को जमींदोज कर दिया गया। इस दौरान दुकानदारों ने विरोध करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस मौजूदगी के चलते दुकानदारों की जुबान नहीं खुली। प्रशासन ने दो दर्जन से ज्यादा दुकानों को ध्वस्त कर दिया। मौके पहुंचे पूर्व ग्राम प्रधान मुकेश दुम्का ने मौजूद अधिकारियों से समय मांगा। उन्होंने उप जिला अधिकारी से फोन पर बात कि, जिसके बाद सामान हटाने के लिए दो दिन का समय दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here