उत्तराखंड: माइकल को सलाम, अपनी जान देकर बचाई बैंक मैनजर की जान

चम्पावतः लोगों को आपने ये तो कहते सुना होगा कि फलां ने किसी की जान, अपनी जान पर खेलकर बचाई है। चम्पावत में एक ऐसी ही घटना सामने आई है। एक युवक ने अपने जान पर खेलकर बैंक मैनेजर और सिक्योरिटी गार्ड की जान बचा ली। दुखद यह है कि जान बचाने वाले युवक की जान चली गई। हालांकि बाद में सिक्योरिटी गार्ड भी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार रात तामली मंच मोटर मार्ग पर चतुरकोट के पास एक कार हादसे का शिकार हो गई थी। कार में एसबीआई के शाखा प्रबंधक और बैंक का गार्ड पूरननाथ सवार थे। ड्यूटी खत्म होने के बाद दोनों वापस लौट रहे थे। तभी चतुरकोट के पास एक खाई के किनारे उनकी गाड़ी फंस गई। इसी बीच इलाके में रहने वाला 25 साल का मनोज सिंह उर्फ माइकल वहां पहुंच गया। वो गाड़ी से अपने घर की तरफ जा रहा था। रास्ते में फंसी बैंक मैनेजर की गाड़ी देख उसकी मदद के लिए वहीं रुक गया। फंसी हुई कार को बाहर निकालने के लिए मनोज ने बैंक मैनेजर को कार से उतार दिया और ड्राइवर की सीट पर खुद बैठ गया।

इसके बाद मनोज ने जैसे ही कार स्टार्ट की कार सीधे खाई में गिर गई। कार के साथ मनोज और गार्ड भी खाई में गिर गए। यह देख बैंक मैनेजर के पैरों तले जमीन खिसक गई। मैनेजर ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस और स्थानीय लोगों ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। मनोज और सिक्योरिटी गार्ड को बचाया नहीं जा सका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here