उत्तराखंड : हाथरस पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए वाल्मीकि समाज की राष्ट्रपति से गुहार, निकाला कैंडल मार्च

टनकपुर l यूपी के हाथरस में बाल्मीकि समाज की युवती के साथ किए गए सामूहिक बलात्कार और पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही ना करने के कारण युवती की इलाज के दौरान हुई मौत से नाराज बाल्मीकि समाज के सैकड़ों लोगों ने नगर पालिका से तुलसी राम चौराहे तक कैंडल मार्च निकालकर अपने गुस्से का इजहार किया l देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ और बाल्मीकि समाज के आक्रोशित लोगो ने गैंगरेप के आरोपी युवकों को फांसी की सजा देने साथ ही तत्काल कार्रवाई न करने के दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ बर्खास्त करने की कार्रवाई करने की मांग की है। इसके साथ ही मृतका के परिजनों को उचित मुआवजा व सरकारी नौकरी देने की भी मांग की है।

गौरतलब है बाल्मीकि समाज की मनीषा नामक 19 वर्षीय युवती के साथ दरिंदो द्वारा सामूहिक दुष्कर्म कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया गया था। जिसकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। बाल्मीकि समाज की युवती के साथ हुए गैंगरेप से पूरे देश में गुस्से का माहौल है। वही देश में जगह-जगह पर पीड़िता के दोषी युवकों को फांसी की सजा की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी है।

इसी आक्रोश को लेकर यहां पर भी बाल्मीकि समाज के सैकड़ो पुरुषों और महिलाओं द्वारा मृतक पीड़िता के दोषियों को मौत की सजा देने, पीड़िता की शिकायत पर तत्काल कार्यवाही ना करने के दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई करने व मृतका के परिजनों को उचित मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग को लेकर कैंडल मार्च निकाला गया। वही आक्रोशित लोगो ने कहा कि अगर बाल्मीकि समाज की मांगे पूरी नही होती है तो वाल्मीकि समाज आगे भी आंदोलन को बाध्य होगा l कैंडल मार्च में राकेश बाल्मीकि, श्याम सिंह बाल्मीकि, रामरतन बाल्मीकि, राकेश कुमार बाल्मीकि, उर्मिला देवी, ललिता देवी, सोमपाल, हीरा लाल, अरुण बाल्मीकि, छत्रपाल, कमलेश, मधुसूदन, संदीप, विजय, विशाल, नरोत्तम, राजेन्द्र, सुनील बाल्मीकि, प्रमोद प्रकाश सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here