उत्तराखंड पुलिस तकनीक से करेगी लोगों की मदद, मिनटों में पहुंचेगी घटनास्थल

देहरादून : उत्तराखंड में दुर्घटनाएं होना आम बात हो चुकी है। खतरनाक पहाड़ी रास्तों पर लैडस्लाइड, लापरवाही और दूसरे कारणों से आए दिन कोई ना कोई दुर्घटना होती रही है। इस दौरान राहत टीम को मौके पर पहुंचने में कई बार बहुत वक्त लग जाता है। इसको देखते उत्तराखंड पुलिस ने एक नया तरीका निकाला है, जिससे घटनास्थल पर पहुंचने का समय कम किया जा सके।

राज्य में किसी भी आपराधिक घटनाओं के साथ-साथ आपदा में पुलिस, अग्निशमन और एसडीआरफ के लिए रिस्पॉन्स समय घटाने के लिए अब पुलिस एसडीआरफ और फायर सर्विस की गाड़ियों के साथ सिटी पेट्रोलिंग और हिल पैट्रोलिंग पुलिस की गाड़ियों पर एमडीटी (MDT) यानी कि मोबाइल डेटा टर्मिनल लगेंगे। इस डिवाइस के लगने से किसी भी घटना पर पुलिस को पहुंचने में लगने वाला समय आधा हो जाएगा।

अभी तक राज्य में किसी भी दुर्घटना या आपदा की सूचना देहरादून स्थिति पुलिस स्टेट कंट्रोल रूम 112 में आती है, जो सूचना पर जिले से संपर्क करती है और फिर जिला थाने को जानकारी दी जाती है। उसके बाद संबंधित क्षेत्र की टीम मौके पर पहंुचती है, जिसमें काफी समय लग जाता है। इस डिवाइज के लगने से 112 सेंटर से सूचना सीधे नजदीकी टीम के पास जाएगी, जो टीम घटना के निकट होगी। इससे रिस्पॉन्स टाइम में काफी कमी आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here