उत्तराखंड : ओलंपियन सुशील कुमार को तलाश रही है पुलिस, यहां मिली लोकेशन, ये है पूरा मामला

दिल्ली : ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार काफी दिनों से फरार चल रहे हैं। दिल्ली पुलिस उनकी तलाश में है। लेकिन, अब तक वो हाथ नहीं आए हैं। पुलिस लगातार उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है। उनको फोन की लोकेशन अलग-अलग जगहों पर मिल है। फिलहाल उनकी लोकेशन उत्तराखंड में मिली है। इसके बाद एक टीम उत्तराखंड भी पहुुंची है।

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पूर्व जूनियर नेशनल चैंपियन पहलवान सागर की पीटकर हत्या के मामले में ओलंपिक पदक विजेता सुशील पहलवान की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी प्रिंस दलाल के मोबाइल फोन से पुलिस को मिली वीडियो क्लिप में सुशील अपने साथियों के साथ सागर और उसके दोस्तों की पिटाई करते दिखाई दे रहे हैं। इसी आधार पर पुलिस की टीमें दिल्ली-एनसीआर के अलावा हरियाणा और उत्तराखंड में सुशील व उसके दोस्तों की तलाश कर रही हैं। पुलिस ने मोबाइल फोन को जांच के लिए एफएसएल भेज दिया है।

उत्तर-पश्चिम जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि छानबीन के दौरान पुलिस को छत्रसाल स्टेेडियम में घटना स्थल का कोई वीडियो नहीं मिला है। गेट व घटना स्थल के पास कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं थे। सूत्रों का कहना है कि जिस रात पूरा बवाल हुआ, उस दिन सुशील के घर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के साथ छेड़छाड़ की गई है। पुलिस उसकी भी जांच कर रही है। जिस फ्लैट से सागर और उसके दोस्तों को अगवा कर छत्रसाल स्टेडियम लाया गया था, उस रास्ते में लगे सभी कैमरों की फुटेज भी खंगाली जा रही है।

सुशील के करीबियों का कहना है कि वह फिलहाल कानूनी राय लेने के लिए अभी सामने नहीं आ रहा है। वारदात में उसका हाथ नहीं है। सुशील की तलाश कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि उसकी लोकेशन फिलहाल उत्तराखंड में मिली है। उसकी तलाश में दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा के अलावा उत्तराखंड भी टीमें भेज दी गई हैं।

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 4 मई की रात पहलवानों के बीच हाथापाई का मामला सामने आया था। इसमें कुछ पहलवान बुरी तरह घायल हो गए थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें से एक की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक की पहचान जूनियर नेशनल चैंपियन पहलवान सागर के रूप में हुई थी। दिल्ली पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पहलवान सुशील ने इस मामले में कहा है कि जिन लोगों ने हाथापाई की वह हमारे पहलवान नहीं थे। हमने पुलिस को अवगत कराया था कि कुछ अज्ञात लोग स्टेडियम के प्रांगण में घुस आए और झगड़ा कर रहे हैं। हमारे स्टेडियम का इस वारदात से कोई लेना-देना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here