उत्तराखंड : लड़की पर हमले मामले में गुस्से में लोग, 24 घंटे में गिरफ्तारी का अल्टीमेटम

 

पौड़ी: राज्य में महिला अपराधों में लगातार इजाफा हो रहा है। दुष्कर्म की घटनाओं में भी काफी जेती आई है। अपराधी किसी भी हद तक जाने से नहीं कतरा रहे हैं। ताजा मामला पौड़ी जिले के चौबट्टाखाल तहसील का है। कॉलेज से लौट रही छात्रा के साथ रेप करने की कोशिश की गई, लेकिन बहादुर बेटी ने हिम्मत दिखाई और आरोपी का विरोध कर गंभीर हालत में बस स्टैंड तक पहुंची। उसके सिर पर 35 टांके लगे हैं। अब तक राजस्व पुलिस ने जांच तक शुरू नहीं की है। इससे लोगों में खासा आक्रोश है।

घटना को लेकर लोगों में गुस्सा देखने को मिल रहा है। आसपास के ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में कांग्रेस के युवा नेता कांग्रेस प्रदेश सचिव कवींद्र इष्टवाल के नेतृत्व में तहसील में धरना दिया। उनका कहना है कि राजस्व पुलिस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि शिकायत करने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। पटवारी लोगों को बरगलाने का प्रयास कर मामले को रफा-दफा करने का प्रयास कर रहे हैं।

कवींद्र इष्टवाल ने कहा कि इस तरह के मामले लोगों को डरा रहे हैं। पहाड़ पर आपराधिक घटनाएं बढ़ रही हैं। ये बेहद गंभीर मामला है, लेकिन प्रशासन इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है। उन्होंने कहा कि अगर 24 घंटे में आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया, तो तहसील परिसर में ही आमर अंशन शुरू कर देंगे। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं और अन्य लोग तहसील में ही धरने पर बैठ गए।

ये है पूरा मामला
अनुसूचित जाति की छात्रा 21 अक्टूबर को महाविद्यालय से प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर घर लौट रही थी। तभी लटबो गांव के पास बस स्टैंड पर एकयुवक ने लड़की को खींचा और सड़क से नीचे झाड़ियों की ओर ले गया। छात्रा ने विरोध किया और चिल्लाई। आरोपी ने पत्थर से सिर पर वार किया। छात्रा बुरी तरह घायल हो गई। युवक भाग गया। घायल छात्रा किसी तरह बस स्टैंड तक पहुंची। कॉलेज के किसी स्टाफ ने उसे देखा और अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने उसकी हालत को गंभीर बताते हुए कोटद्वार रेफर कर दिया। उसका बेस अस्पताल कोटद्वार में उपचार चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here