उत्तराखंड : शिकायत दर्ज करने के लिए अब नहीं जाना होगा चौकी-थाना

देहरादून : उत्तराखंड पुलिस द्वारा आज प्रदेशवासियों को सौगात दी गई. जिसमें पुलिस ने जनता को मित्रता, सेवा, सुरक्षा का और तोहफा दिया है. जी हां अब नागरिकों को अब अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिये थाने/चौकी पर जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी। आज पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने देवभूमि उत्तराखंड पुलिस मोबाइल एप का रिव्यू किया गया।

डीजी अशोक कुमार ने बताया कि गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट का शुभारम्भ वर्ष 2013 मे हुआ। सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट के अन्तर्गत 09 नवम्बर, 2016 को नागरिकों के लिये सिटीजन पोर्टल सेवा का शुभारम्भ किया गया था। प्रारम्भ में इसमें शिकायत पंजीकरण, प्रथम सूचना रिपोर्ट की प्रति प्राप्त करना सर्च स्टेटस 3 सेवाएं प्रदान की गयी थी। वर्तमान में उपरोक्त 3 सेवाओं का विस्तार करते हुये 13 अन्य सेवाओं को सिटीजन पोर्टल में जोड़ा गया है। पुनः उपरोक्त 16 सेवाओं का विस्तार मोबाईल एप पर भी कर दिया गया है। नागरिक अपने द्वारा की गयी शिकायत पर की गयी कार्यवाही की किसी भी समय जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यह मोबाईल एप सीधे ही उत्तराखण्ड सिटीजन पोर्टल से लिंक है, जो गूगल पर देवभूमि उत्तराखंड नाम से उपलब्ध है और फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है। अभी तक इस एप्प को 1972 यूजर्स द्वारा डाऊनलोड किया जा चुका है। पूर्व में प्रचलित उत्तराखंड पुलिस मोबाइल एप भी इसी में मर्ज कर दी गयी है।

नागरिक इस मोबाइल ऐप से निम्नलिखित सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं-

शिकायत पंजीकरण, सर्च स्टेटस, एफआईआर देखें, किरायेदार/पीजी सत्यापन अनुरोध, कार्यक्रम/प्रदर्शन अनुरोध, कर्मचारी सत्यापन, जुलूस अनुरोध, हड़ताल अनुरोध, घरेलू सहायता सत्यापन, साईबर क्राईम शिकायत पंजीकरण

गुमशुदा व्यक्ति पंजीकरण, खोई सम्पत्ति पंजीकरण, पुलिस क्लीयरेन्स सार्टीफिकेट, नजदीकी पुलिस स्टेशन खेंजे, टेलीफोन डायरेक्ट्री, आपातकालीन सहायता

उपरोक्त के अतिरिक्त उन्होंने बताया कि डायल 112 सेवा भी अब पूरी तरह फंग्शनल है है। पूरे प्रदेश के नागरिक इमरजेसी सेवा के लिए कहीं से भी 112 डायल कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here