उत्तराखंड : दून पुलिस की नई पहल, शुरू की ऑटो एंबुलेंस, तुरंत पहुंचेगी मदद

देहरादून : कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच दून पुलिस द्वारा फ्रंट लाइन वारियर्स के रूप में लगातार लोगों को संक्रमण से बचाने तथा उन तक आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु पूर्ण कर्तव्यनिष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया जा रहा है। विपदा की इस घड़ी में कई व्यक्तियों द्वारा मेडिकल सहायता हेतु पुलिस से संपर्क कोरोना संक्रमित अपने परिजनों के लिए दवाइयों, ऑक्सीजन सिलिंडर तथा अस्पताल में बेड की व्यवस्था हेतु अनुरोध किया जा रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण कई बार तत्काल एंबुलेंस अथवा ऑक्सिजन सिलिंडर की व्यवस्था न होने अथवा इसमें कुछ विलंब होने की दशा में पीड़ित व्यक्ति के साथ किसी प्रकार की अनहोनी होने की संभावना बनी रहती है।

जिसके दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की पहल पर दून पुलिस द्वारा कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की सहायता हेतु नई पहल करते हुए ऑटो एंबुलेंस सेवा की शुरुआत की है, जिसके तहत कंट्रोल रूम से प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर किसी भी आकस्मिक स्थिति में गंभीर रूप से संक्रमित किसी व्यक्ति के लिए तत्काल एम्बुलेंस उपलब्ध ना होने की दशा में उसे अस्पताल तक पहुंचाने के लिए उक्त ऑटो एंबुलेंस सेवा का इस्तेमाल किया जायेगा। आज दिनांक 12/05/21 को उक्त ऑटो एंबुलेंस सेवा को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा मसूरी डायवर्जन पर हरी झंडी दिखाकर जनसेवार्थ रवाना किया गया। शुरुआत में उक्त ऑटो एंबुलेंस सेवा को थाना राजपुर क्षेत्र में शुरू किया जा रहा है, जिसमे पुलिस द्वारा दो ऑटो वाहनों में ऑक्सीजन सिलेंडर व अन्य उपकरण लगाये गए है, जो 24 घंटे पीड़ित व्यक्तियों की सहायता के लिए उपलब्ध रहेगी।

उक्त ऑटो एम्बुलेंस में नियुक्त ऑटो चालक को विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है, जिससे वह किसी भी आकस्मिक स्थिति में गंभीर रूप से पीड़ित मरीज को प्राथमिक तौर पर ऑक्सीजन उपलब्ध कराते हुए उक्त ऑटो एम्बुलेंस के माध्यम से संबंधित अस्पताल तक ले जा सकते है। उक्त ऑटो एंबुलेंस सेवा के सकारात्मक परिणाम परिलक्षित होने पर जल्द ही इसे जनपद के अन्य थाना क्षेत्रों में भी शुरू किया जायेगा। कोरोना संक्रमण के दौरान विपदा की इस घड़ी में दून पुलिस आम जनमानस की हर संभव सहायता के लिए सदैव तत्पर एवं प्रयासरत है। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण कई बार तत्काल एंबुलेंस अथवा ऑक्सिजन सिलिंडर की व्यवस्था न होने अथवा इसमें कुछ विलंब होने की दशा में पीड़ित व्यक्ति के साथ किसी प्रकार की अनहोनी होने की संभावना बनी रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here