उत्तराखंड : बहुत याद आता है…हाथ में ब्रीफकेस लिए वो हंसता हुआ चेहरा

देहरादून : आज विधानसभा सत्र के दूसरे दिन अनुपूरक बजट पेश किया गया जिसमे 2533.60 करोड़ का अनूपूरक बजट पेश किया गया. लेकिन इस दौरान हाथों में ब्रीफकेस लिए वित्त मंत्री प्रकाश पंत का चेहरा याद आया. बता दें कि वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने पिछले साल 2018-2019 के लिए 2452.41 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया थाl

याद है पिछली बार का विधानसभा सत्र…

याद है पिछली बार का देहरादून विधानसभा सत्र…औऱ याद है अनूूपूरक बजट पेश करने का वो दिन जब वित्त मंत्री प्रकाश पंत चेहरे पर मुस्कान लिए हाथों में ब्रीफकेस लिए सदन से बाहर आए थे. ब्रीफकेस का रंग काला था. साथ में सीएम भी चेहरे पर हंसी लिए उनके साथ बाहर निकले थे.

विपक्ष के सवालों का बड़े ही शालीनता से देते थे जवाब

वित्त मंत्री प्रकाश पंत शांत स्वभाव और गुणी नेता थे, जिनकी राजनीति में अच्छी पकड़ थी और राजनीति के ज्ञानी थे…प्रकाश पंत वो नेता थे जो विपक्ष के सवालों का जवाब बड़े ही शालीनता से देते थे औऱ अगर विपक्ष हंगामा करे-धरने पर बैठे तो उनको भी बड़े प्यार से मनाते थे जैसा की पिछली बार हुआ था. करण माहरा बीच सड़क में धरने पर बैठ गए थे. कांग्रेस ने सदन से वॉकआउट कर लिया था ऐसे में प्रकाश पंत ही थे जो उन्हें मनाने इंदिरा के साथ सड़क पर धरना स्थल पर गए औऱ करण माहरा समेत कांग्रेसियों को मनाने की कोशिश की. यही कारण है कि उन्हें सत्ता पक्ष से लेकर विपक्ष और आम जनता उनको दिल से चाहती थी.

भले ही आज ब्रीफकेस का रंग बदल गया हो…लेकिन

भले ही आज ब्रीफकेस का रंग बदल गया हो औऱ पुराने ब्रीफकेस के रंग को मंत्री-विधायक औऱ जनता भूल गई हो लेकिन वित्त मंत्री प्रकाश पंत का वो हंसता हुआ चेहरे आज भी याद आता है. आज अनुपूरक बजट पेश किया गया. ब्रीफकेस मदन कौशिक बाहर लेकर निकले. और 2533.60 करोड़ का अनूपूरक बजट पेश किया गया. लेकिन जहन में एक वो चेहरा जो हमारे बीच नहीं है लेकिन उनका हंसता हुआ चेहरा, कर्मठता, कर्तव्यनिष्ठा, शालीनता,सादापन, ईमानदारी हमें हमेशा उनकी याद दिलाती है.

वित्त मंत्री प्रकाश पंत का लंबी बीमारी के बाद निधन

बता दें कि उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। उन्होंने अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ टैक्सास के अस्पताल में अंतिम सांस ली थी। 59 वर्षीय पंत लंबे समय से बीमार चल रहे थे। 30 मई को उन्हें कैंसर के इलाज के लिए अमेरिका ले जाया गया था जहां 5 जून को उन्होंने अंतिम सांस ली.
अपने पति के अधूरे सपने को पूरा करुंगी-चंद्रा पंत
प्रकाश पंत के निधन के बाद पिथौरागढ़ सीट खाली हो गई थी जिसमे उपचुनाव कराया गया औऱ इस सीट पर भाजपा ने दिवंगत वित्त मंत्री प्रकाश पंत की पत्नी को प्रत्याशी घोषित किया था. जिसमें चंद्रा  पंत ने जीत  हासिल की और कहा कि वो अपने पति के अधूरे सपने को पूरा करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here