रोशन रतूड़ी को पीएम मोदी पर भरोसा, जवान को जरुर अभिनंदन की तरह वतन वापस लाएंगे

देहरादून:  8 जनवरी से लापता देहरादून निवासी जवान राजेंद्र नेगी का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। परिजनों की चिंता बढ़ती जा रही है। परिजन समेत पूरा उत्तराखंड जवान की सलामती की दुआ कर रहा है। परिजनों ने केंद्र सरकार और रक्षा मंत्री से अपील की है कि पाकिस्तान के साथ डीजीएमओ स्तर की बातचीत कर दिन के समय सर्च अभियान चलाए। बता दें कि सेना की 11वीं गढ़वाल राइफल्स का जवान राजेंद्र गत आठ जनवरी से लापता हैं। वर्तमान में उनकी तैनाती जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग अनंतनाग फारवर्ड पोस्ट पर थी। आठ फरवरी को पोस्ट के पास एवलांच आया था। जिसकी चपेट में आने से वह पाक सीमा की तरफ गिर गए थे। सेना के जवान तब से लेकर लगातार रेस्क्यू अभियान चला रहे हैं, लेकिन अभी तक राजेंद्र का पता नहीं चल पाया है।

सीएम ने की रक्षा मंत्री से बात, दिया आश्वासन

मिली जानकारी के अनुसार गुलमर्ग की फॉरवर्ड पोस्ट से लापता देहरादून निवासी हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी के संबंध में सीएम त्रिवेंद्र रावत ने रक्षा मंत्री से बात की है. सीएम त्रिवेंद्र रावत ने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आश्वासन दिया है कि लापता जवान की तलाश के लिए और तेजी के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा.

“मोदी जी है तो मुमकिन है”-रोशन रतूड़ी

वहीं समाज सेवी रोशन रतूड़ी ने पीएम मोदी पर विश्वास जताया है कि जरुर हमारे पीएम नरेंद्र मोदी हमारे बहादुर जवान को ज्लद ही पाकिस्तान से निकालकर वतन वापस लाएंगे। रोशन रतूड़ी का कहना है कि “मोदी जी है तो मुमकिन है” विंग कमांडन अभिनंदन की तरह पीएम मोदी इस जवान को भी जरुर वापस लाएंगे।

परिजनों ने मोदी सरकार से की अभिनंदन की तरह उनके बेटे की वापसी की मांग

परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिवार वाले केंद्र सरकार से विंग कमांडर अभिनंदन की तरह अपने बेटे को भी वतन वापस लाने की मांग कर रहे हैं। जवान के भाई का कहना है कि मेरा भाई जिस हालत में जहां भी है बस घर आ जाए। भाई के बर्फ से फिसलकर पाक पहुंचने की खबर से परिवार वाले काफी डरें हैं और बेटे को अभिनंदन की तरह वतन वापसी की मांग मोदी सरकार से कर रहे हैं।

9 जनवरी को की थी पत्नी से बात

बता दें 11वीं गढ़वाल राइफल में तैनात हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी 8 जनवरी से जम्मू कश्मीर स्थित गुलमर्ग में अपनी फॉरवर्ड पोस्ट से लापता हैं. बताया जा रहा है कि बर्फ में फिसलने की वजह से वे लापता हो गए और उनकी तलाश के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन भी चलाए गए, लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिल पाई है. वहीं उनके परिजनों ने इस संबंध में राज्य व केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है. परिजनों ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी 9 जनवरी को ही लग गई थी. राजेंद्र नेगी की पत्नी राजेश्वरी देवी का कहना है कि 8 जनवरी की सुबह उनकी राजेंद्र से बात हुई थी. उस दौरान उन्होंने वहां के खराब मौसम और हालात के बारे में बताया था. राजेंद्र ने पत्नी से कहा था कि यहां बर्फबारी हो रही है औऱ जेनरेटर भी नहीं है तो अगर 2-3 दिन तक फोन न कर पाऊं तो परेशान मत होना।

वहीं जवान की पत्नी राजेश्वरी देवी ने पीएम मोदी से अपील कि है कि उनके पति राजेंद्र नेगी की सकुशल घर वापसी में मदद करें.

बता दें कि लापता हवलदार राजेंद्र नेगी का परिवार देहरादून में ही रहता है. उनके तीन भाई हैं जो कि गांव में मजदूरी करते हैं। पिता खेती का काम करते हैं। जवान के भाई का कहना है कि राजेंद्र सिंह की पलटन से भी संपर्क साधा. परिवार ने राज्य से लेकर केन्द्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here