उत्तराखंड: मौन पालन महोत्सव का आगाज, यहां बनेगी राष्ट्रीय स्तर की लैब

हल्द्वानी: तीन दिवसीय मौन पालन महोत्सव का आगाज हो गया है। यह महोत्सव 20 दिसम्बर तक चलेगा। उत्तराखंड में शहद के प्रचार और बाजार उपलब्ध कराने के लिए उद्यान एवं प्रसंस्करण विभाग ने यह पहल की है। उत्तराखण्ड राज्य में जैविक शहद की पैदावार बेहतर है, लेकिन शहद के विपणन की अभी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है।

उम्मीद की जा रही है की 3 दिवसीय इस महोत्सव में चार विदेशी कंपनियों से एमओयू भी साइन हो सकता है, इसके अलावा उद्यान विभाग जल्द ही ज्योलीकोट नैनीताल में राष्ट्रीय स्तर की शहद की टेस्टिंग लैब बनाने जा रहा है, जहां शहद व उससे जुड़े उत्पादों की गुणवत्ता की जांच होगी। इसके लिए पांच करोड़ के प्रोजेक्ट को भी केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है।

यही नहीं कई एक्सपर्ट भी इस महोत्सव में शिरकत कर रहे हैं, जो शहद का काम करने वाले लोगो की बारीक से बारीक जानकारी भी उपलब्ध कराएंगे। तीन दिवसीय इस महोत्सव में शहद के अलावा अन्य जैविक उत्पादों के स्टॉल भी लगाए गये हैं, जहां लोग अलग अलग प्रकार के शहद और शहद से जुडी जानकारी भी ले रहे हैं, स्टॉल में अलग अलग वैरायटी के शहद आम जनता को आकर्षित भी कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here