उत्तराखंड के लिए विनाशकारी बना उत्तरप्रदेश, आए दिन पकड़े जा रहे नशे के सौदागर

देहरादून: एसओजी और पटेलनगर पुलिस ने 364 ग्राम स्मैक के साथ तीन स्मैक तस्करों को गिरफ्तार किया है साथ ही 50 हजार की नगदी भी बरामद की।बरामद स्मैक की कीमत करीब 11 लाख रुपये बताया जा रहा है। आरोपित बरेली और शाहजहांपुर से स्मैक लाकर दून में छात्रों को मुहैया कराते थे। पुलिस को गिरोह के मुख्य सरगना के बारे में भी जानकारी मिली हैं।

एसओजी प्रभारी पीडी भट्ट और चौकी इंचार्ज बाजार नरोत्तम बिष्ट के नेतृत्व में कारगी चौक पर वाहनों की चेकिंग कर रही टीम को यह सफलता मिली। आइएसबीटी की ओर से आ रही स्कार्पियो सवार तीन लोगों से तलाशी में 364 ग्राम स्मैक मिली।जिसकी कीमत इनकी पहचान राजवीर सिंह निवासी झोझगान, मुजफ्फरनगर, शाह आलम चौधरी निवासी जाटान मुजफ्फरनगर और महशर अली निवासी फतेहगंज, जिला बरेली के रूप में हुई।

मशहर अली है मुख्य डीलर

पकड़े गए स्मैक तस्करों में मशहर अली मुख्य डीलर है। वह बरेली और शाहजहांपुर से स्मैक लाकर राजवीर व शाह आलम चौधरी को सप्लाई करता है। बाद में ये दोनों दून के विभिन्न स्कूल, कॉलेजों और संस्थानों के छात्रों को सीधे स्मैक बेचते हैं। राजवीर बीएड कर चुका है, जबकि शाह आलम आइटीआइ कर रहा है। आरोपित दून में पिछले करीब 11 माह से सक्रिय थे।

स्टेयरिंग में बना रखी थी जगह

राजवीर स्मैक तस्कर के साथ ही ड्राइवर भी है। स्मैक तस्करी के लिए उसने अपनी गाड़ी के स्टेरिंग में जगह बना रखी है। स्टेयरिंग में छुपाकर ही वह स्मैक दून लाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here