होटल कारोबारी की आत्महत्या का उत्तराखंड कनेक्शन, IPS पर गुपचुप नजर!

उत्तराखंड में तैनात एक आईपीएस अफसर पर एक होटल कारोबारी को आत्महत्या के लिए उकसाने और बड़े पैमाने पर काली कमाई को होटल व्यापार में लगाने के मामले में नए सुराग मिलने की खबर है। सीएम धामी की शुरुआती सख्त के बाद ही शासन स्तर से इस आईपीएस की भूमिका की गुपचुप जांच शुरु हो गई है।

होटल कारोबारी ने कर ली आत्महत्या

आपको बता दें कि हाल ही में नोएडा से सटे कौशांबी में एक होटल कारोबारी अमित जैन ने आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या की वजहों की तलाश के दौरान दिल्ली पुलिस को पता चला कि अमित के होटल में उत्तराखंड में तैनात किसी आईपीएस अफसर ने बड़ी रकम लगाई थी। ये आईपीएस इसी पैसे को वापस मांग रहा था और अमित पर लगातार दबाव बना रहा था। इसी दबाव से परेशान होकर अमित ने खुदकुशी कर ली।

अखबारों और सोशल मीडिया में ये खबर छपी तो उत्तराखंड में भी अधिकारियों और सरकार के कान खड़े हुए। तुरंत ही इस मसले में दिल्ली पुलिस से संपर्क कर जानकारी ली गई।

वहीं ये बात खुद सीएम पुष्कर सिंह धामी तक भी पहुंची। सीएम धामी ने अगले ही दिन सख्त संदेश दे दिया कि अगर कोई अधिकारी लिप्त मिला तो सख्त कार्रवाई होगी।

नजरिए अलग अलग

हालांकि कई लोग इस पूरे बयान को अलग नजरिए से देख रहें हैं। कुछ लोगों का मानना है कि उत्तराखंड में आईएएस और आईपीएस अफसरों की लॉबी इतनी ताकतवर है कि सरकारें बाल नहीं बांका कर पाती हैं। ऐसे में सीएम धामी का ये बयान महज एक इमेज बिल्डिंग स्लोगन भर है।

वहीं दूसरी तरफ कुछ और चर्चाएं भी चल रहीं हैं। दरअसल सरकार को आईपीएस के बारे में शुरुआती जानकारी मिल चुकी है लेकिन सरकार किसी कार्रवाई से पहले पूरी तरह इत्मिनान कर लेना चाहती है। सोशल मीडिया और अखबारों में जिस काली कमाई के बारे में चर्चाएं चल रहीं हैं उसके बारे में भी तहकीकात कराई जा रही है।

चर्चाएं हैं कि सीएम धामी पूरी तसल्ली से आगे बढ़ना चाहते हैं। पूरी कुंडली खंगालने के बाद ही कोई कार्रवाई हो तो बेहतर होगा। लेकिन दिलचस्प ये भी है कि इस बारे में कोई अफसर या नेता कुछ खास बताने के मूड में नहीं है। फिलहाल इंतजार कीजिए, नए साल में बड़े धमाके की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here