उत्तराखंड : इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी होने के तुरंत बाद बने लेफ्टिनेंट, पिता से मिली प्रेरणा

चंपावत : बीते दिन देहरादून आईएमए से 325 जवान लेफ्टिनेंट बन कर देश के लिए समर्पित हुए। इसमे उत्तराखंड के भी 25 युव सेना में अफसर बने और उत्तराखंड का नाम देश भर में रोशन किया। इन्हीं में से एक हैं चंपावत के नितिन सिंह। जी हां चंपावत के मुडियानी गांव के रहने वाले नितिन सिंह बोहरा शनिवार को सेना में अफसर बन गए हैं। उनके पिता मोहन सिंह बोहरा भी सेना से रिटायर्ड हैं और मां भागीरथी देवी गृहणी है। नितिन ने 10वीं और 12वीं की पढ़ाई दिल्ली पब्लिक स्कूल, मुंबई से की। इसके बाद मुंबई के ही एक इंजीनियरिंग कॉलेज से मकैनिकल ब्रांच से बीटेक किया। नितिन को पिता से ही सेना में जाने की प्रेरणा मिली।

लेफ्टिनेंट बने नितिन ने बताया कि पिता से ही सेना में जाने की प्रेरणा मिली। इंजीनियरिंग के साथ ही सीडीएस की तैयारी भी शुरू कर दी। खुशकिस्मती से इंजीनियरिंग की पढ़ाई साल 2019 में पूरी होने के साथ ही सीडीएस में भी चयन हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here