उत्तराखंड : कैसे लगी B.COM के छात्र को स्मैक की लत और कैसे बना नशा तस्कर? पढ़िए

उत्तराखंड का पड़ोसी राज्य उत्तराखंड और उत्तराखंड के युवाओं के लिए जंजाल बनता जा रहा है जिसने पुलिस की नाक में दम करके रख दिया है. आए दिन नशा तस्कर गिरफ्तार किए जा रहे हैं. आए दिन उत्तराखंड में युवा और व्यक्ति के साथ महिलाएं नशे के सामान के साथ गिरफ्तार किए जा रहे हैं जो की पड़ोसी राज्य उत्तरप्रदेश से लाया जा रहा है. वहीं आज के युवा नशे की ओर अग्रसर हैं जिन्हें देख छोटे-छोटे बच्चे भी इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं जिससे उनका भविष्य अंधकार की ओर हैं.

बी.कॉम का छात्र गिरफ्तार

जी हां एक बार फिर पुलिस ने एक छात्र को इस आरोप में दबोचा है. दरअसल उत्तरप्रदेश के बिलासपुर से स्मैक खरीदकर अल्मोड़ा के छात्रों को बेचने वाला तस्कर कोतवाली पुलिस ने गिरऱफ्तार किया. बता दें पकड़ा गया तस्कर बीकॉम का छात्र है और स्मैक की लत में पडऩे के बाद तस्करी करने लगा। छात्र से 3.5 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। आरोपित के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेज गया है।

दोस्तों के साथ पहली बार पी स्मैक और लग गई लत

एसएसआइ विजय मेहता ने बताया कि मंगलवार को अल्मोड़ा के खत्याड़ी स्टेडियम के समीप रहने वाले आशीष सिंह उर्फ गोलू को वर्कशाप लाइन से दबोच लिया। उसके पास 3.5 ग्राम स्मैक मिलने पर गिरफ्तार कर कोतवाली लाया गया। पूछताछ में पता चला कि सात महीने पहले दोस्तों के साथ उसने पहली बार स्मैक पी और धीरे-धीरे इसका लती हो गया। अल्मोड़ा के तस्करों से महंगी स्मैक मिलने और नशा करने के लिए रुपयों की जरूरत पूरी करने के लिए वह तस्करी करने लगा। आशीष ने बताया कि वह बिलासपुर से स्मैक खरीदकर लाता है और अल्मोड़ा के छात्रों को बेचता है। इससे उसके पीने के लिए स्मैक का खर्चा निकल जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here