उत्तराखंड: जंगल की आग पर हाईकोर्ट सख्त, प्रमुख वन संरक्षक तलब

uttarakhand-highcourt.jpg-

 

नैनीताल: राज्य के जंगलों में लगी भीषण आग से सरकार निपट नहीं पा रही है। आग की समस्या हर साल रहती है। बावजूद वन महकमा इससे निपटने के लिए अब तक कोई कारगर उपाया नहीं कर पाया है। मामले की गंभीतर को देखते हुए हाईकोर्ट ने जंगल की आग का स्वतः संज्ञान लिया है।

इसको लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका पर आज मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति आरएस चैहान व न्यायाधीश न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में मामले की सुनवाई हुई। कोर्ट ने सरकार को कड़ी फटकार लगाने के साथ ही प्रमुख वन संरक्षक राजीव भरतरी को सुबह सवा दस बजे व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में तलब किया है।

कोर्ट ने पूछा कि 2016 के कोर्ट के आदेश का अनुपालन क्यों नहीं किया गया। कोर्ट ने तब आधुनिक उपकरण क्रय करने समेत दावानल नियंत्रण को जरूरी कदम उठाने के आदेश पारित किए थे। जंगलों में आग लगने के कारण पर्यावरण पर भी संकट आ गया है। राज्य में जंगल की आग बूकाबू हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here