उत्तराखंड में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की टूटी कमर, मरीज बिन डॉक्टर और मशीन

हल्द्वानी-कुमाऊँ के सबसे बड़े शहर हल्द्वानी में स्वास्थ्य व्यवस्था धड़ाम हो चुकी है। खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के पास स्वास्थ्य महकमे की जिम्मेदारी होने के साथ-साथ खुद स्वास्थ्य महानिदेशक भी हल्द्वानी शहर के ही रहने वाले हैं। बावजूद इसके पूरे कुमाऊँ की जनता के स्वास्थ्य को सुधारने के जिम्मा रखने वाला हल्द्वानी का सोबन सिंह जीना बेस अस्पताल खुद बीमार पड़ा हुआ है, 2 महीने से सीटी स्कैन मशीन खराब है जिसे ठीक करने में 23 लाख रूपये का खर्च आ रहा है। इसके अलावा डिजिटल एक्सरे मशीन भी लंबे समय से खराब है।

यही नहीं डॉक्टरों की भी भारी कमी इस अस्पताल में है, बावजूद इसके डबल इंजन सरकार न तो मशीनों को सही कराने के लिए बजट आवंटित कर पा रही है और ना ही स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक करने के लिए डॉक्टरों की तैनाती कर रही है।

बेस अस्पताल के सीएमएस का कहना है कि वह स्वास्थ्य महकमे के उच्च अधिकारियों को कई बार मशीन खराब होने से लेकर डॉक्टर की उपलब्धता कराने को पत्राचार कर चुके हैं। लेकिन अब तक अस्पताल को बजट आवंटित नहीं हुआ है जिस वजह से मशीन ठीक नहीं हो पा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here