उत्तराखंड : राज्यपाल ने राधिका को लिया गोद, बोली- कुपोषण के चंगुल से आजाद कराना है

देहरादून : राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने मंगलवार को राजभवन में राष्ट्रीय पोषण मिशन को प्रोत्साहन देते हुए देहरादून की एक अति कुपोषित बच्ची राधिका को गोद लिया। राधिका की उम्र 4 साल 10 माह है औऱ राधिका अति कुपोषित श्रेणी में है। राधिका के माता-पिता राजकुमारी एवं हरिओम इन्दिरानगर में रहते हैं और गरीब परिवार से हैं।

कुपोषित बच्चे और महिला को कुपोषण के चंगुल से आजाद कराना है-राज्यपाल

इस दौरान राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और प्रत्येक बच्चे का अच्छा स्वास्थ्य देश के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। राष्ट्रीय पोषण मिशन एक अत्यंत महत्वपूर्ण अभियान है तथा प्रत्येक कुपोषित बच्चे और महिला को कुपोषण के चंगुल से आजाद कराना है।

खुद राधिका के स्वास्थ्य का नियमित अनुश्रवण करेंगी राज्यपाल

राज्यपाल मौर्य ने राजभवन के चिकित्सकों को राधिका की मेडिकल और मानिटरिंग फाइल बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने राधिका के माता-पिता को पुष्टाहार किट प्रदान करते हुए उसके खान-पान पर नियमित ध्यान देने को कहा। उन्होंने कहा कि वे खुद राधिका के स्वास्थ्य का नियमित मॉनीटरिंग करेंगी। उन्होंने राधिका की पढ़ाई में भी हर संभव सहायता देने की बात कही।

राधिका के तीन साल के भाई के उपचार के दिए निर्देश

राज्यपाल मौर्य ने राधिका के तीन वर्षीय भाई देव, जो कि थैलीसेमिया से पीड़ित है उसके स्वास्थ्य एवं उपचार के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिये। देव को नियमित रूप से ठ पाजिटीव रक्त की जरूरत होती है। उन्होंने देव, राधिका के माता-पिता से कहा कि अगर देव को खून मिलने में कोई समस्या आती है तो उन्हें सूचित करें। उन्होंने महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या से राधिका की माँ को जीवनयापन हेतु यथोचित रोजगार प्रदान करने के लिये भी कहा।

इस अवसर पर मंत्री रेखा आर्या, डी.पी.ओ. देहरादून अखिलेश मिश्र, राजभवन के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डाॅ. महावीर सिंह एवं डाॅ. ए.के.सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here