उत्तराखंड सरकार और स्वास्थ्य विभाग के दावे फेल, 14 दिन में अब तक 8 श्रद्धालुओं की मौत

रुद्रप्रयाग : 7 मई से चारधाम यात्रा की शुरुआत हो चुकी है. हर साल की तरह इस बार भी श्रद्धालु दर्शन के लिए चारोंधामों में आ रहे हैं. खास तौर पर केदारनाथ औऱ बद्रीनाथ में. बीते दिन पीएम मोदी भी केदार बाबा और बदरीविशाल के दर्शन कर गए.

अभी तक 8 तीर्थयात्रियों की मौत, खुली पोल

अब तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे ज्यादा श्रद्धालु बदरीनाथ और केदरानाथ धाम में दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. केदारनाथ धाम में अब तक करीब 94 हजार 779 श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं. वहीं गंभीर विषय ऑक्सीजन की कमी के कारण श्रद्धालुओं की होने वाली मौत है. जी हां आपको बता दें कि अभी तक 8 तीर्थयात्रियों की जान ऑक्सीजन की कमी के कारण हार्ट अटैक से जा चुकी है…जिससे स्वास्थय विभाग और सरकार के दावों की पोल खुलती दिख रही है.

सरकार और स्वास्थ्य विभाग के दावे फेल

यात्रा शुरु होने से पहले सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा कई दावे किए गए कि केदारनाथ धाम के पैदल मार्ग पर हर 2 किमी में डॉक्टरों की एक टीम रखी जाएगी ताकि अगर रास्ते में किसी भी तीर्थयात्री तबीयत बिगड़ती है तो उसे तुरंत उपचार मिल सके लेकिन ऐसा कहीं भी होता नहीं दिखाई दे रहा है. आए दिन तीर्थयात्रियों की जान जा रही है और कोई भी स्वास्थय की टीम वहां नजर नहीं आई. बता दें कि अब तक मरने वाले तीर्थयात्रियों की उम्र 50 से अधिक थी जिन्हें सांस लेने में दिक्कत हुई थी.

बात करें हेली सेवा की तो हेलीसेवा भी देर से शुरु की गई जिससे की बुजुर्ग लोगों को पैदल ही यात्रा करनी पड़ी और कइयों की ऑक्सीजन की कमी के कारण मौत हो गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here