उत्तराखंड : खाद्य सुरक्षा विभाग की छापेमारी, गंदगी में इस तरह बनाया जा रहा था घटिया पनीर

देहरादून : पनीर, शाही पनीर खाने में तो बेहद स्वादिष्ट लगते हैं लेकिन ये स्वाद आपकी सेहत बिगाड़ सकता है. जी हां क्योंकि मिलावट खोरों को आपकी सेहत से नहीं बल्कि पैसों से प्यार है और इसके लिए वो किसी भी हद तक जा सकते हैं. पनीर में मिलावट का खुलासा तब हुआ जब खाद्य विभाग की टीम ने सुनसान जगह पर छापेमारी की औऱ घटिया पनीर जब्त किया। आपको बता दें कि हाल ही में भुड्डी गांव में नकली घी और पनीर बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई थी, लेकिन इस कार्रवाई का असर नहीं दिखा।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने चंद्रबनी चोयला में छापेमारी की। जहां एक सुनसान जगह पर स्किम्ड मिल्क से पनीर तैयार किया जा रहा था। टीम ने तकरीबन 50 किलो घटिया पनीर नष्ट कराया।

ग्रामीण के खाद्य सुरक्षा अधिकारी योगेंद्र पाडेय को शिकायत मिली थी कि चंद्रबनी चोयला में एक व्यक्ति सुनसान स्थान पर एक घर में घटिया गुणवत्ता का पनीर बनाकर लोगों को बेचता है। छापेमारी से वहां हड़कंप मच गया. बताया कि यहां पर एक व्यक्ति स्किम्ड मिल्क यानी पाउडर से पनीर बनाता मिला। टीम ने करीब 50 किलो पनीर नष्ट कराया। इसके अलावा पनीर का सैंपल भी लिया गया है।

ग्रामीण के खाद्य सुरक्षा अधिकारी योगेंद्र पाडेय नोे बताया कि पनीर बहुत ज्यादा गंदगी के बीच बनाया जाता था। पनीर को ईंटों से दबाया जाता था। जानकारी मिली की ये पनीर 220 रुपये किलो तक आसपास के लोगों को बेचा जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here