उत्तराखंड : गेहूं के खेत में लगी आग, चौकी इंचार्ज ने जान पर खेलकर बचाई फसल

उधमसिंह नगर : एक बार फिर खाकी लोगों के लिए देवदूत साबित हुई। एक बार फिर उत्तराखंड की मित्र पुलिस ने मित्रता दिखाई। एक बार फिर वर्दी धारी लोगों के लिए या यूं कहें कि किसान के लिए मसीहा साबित हुए। एक बड़े नुकसान होने से खाकी ने बचाया। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। जांच की जा रही है।

खेत में लगी आग, खाकी बनी देवदूत

जी हां मामला उधमसिंह नगर के किच्छा क्षेत्र की दरउ का है, जहां गेहूं के खेत में अचानक आग लग गई। चारों ओर अफरा-तफरी मच गई। गांव के लोग भागे-भागे खेत की ओऱ आए। ऐसे में दरउ चौकी इंचार्ज और चौकी की पुलिस ने भी मोर्चा संभालते हुए आग बुझाई। क्योंकि फसल पकी हुई तो जल्दी आग पकड़ने लगी लेकिन लोगों के साथ चौकी इंचार्ज किसान के लिए देवदूत साबित हुए. चौकी इंचार्ज ने आग बुझान की पुरजोर कोशिश की।

लोगों ने किया खाकी को धन्यवाद

जानकारी मिली कि कोतवाली किच्छा के दरउ चौकी क्षेत्र में ग्राम वीरूनगला के पास यूपी बॉर्डर पर गेहूं की पकी फसल के पास लगी आग को चौकी इंचार्ज एसआई रमेश चंद्र बबेलवाल द्वारा स्थानीय निवासी और SPO की मदद से तत्परता के साथ बुझाया। इस कोशिश से किसानों की सैकड़ों हेक्टेयर पकी फसल का नुकसान होने से बच गयी। सभी स्थानीय निवासियों और पुलिस एसपीओ द्वारा आपसी सहयोग से किए गए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए स्थानीय जनता का बहुत-बहुत धन्यवाद अदा किया गया। वहीं लोगों ने चौकी इंचार्ज के इस तत्परता वाले काम के लिए शुक्रिया अदा कियाष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here