उत्तराखंड : शिक्षा मंत्री अरविन्द पांडेय ने किया आधुनिकीकृत विद्यालय का लोकार्पण

काशीपुर में आज आधुनिकीकृत विद्यालय के रूप में ज़िले के पहले सरकारी स्कूल इंदिरा गाँधी राजकीय प्राथमिक विद्यालय का प्रदेश के शिक्षा, खेल एवं पंचायतीराज मंत्री अरविन्द पांडेय ने लोकार्पण किया। इस दौरान उनके साथ पूर्व सांसद बलराज पासी भी मौजूद रहे।

काशीपुर में आज ज़िले के पहले राजकीय प्राथमिक विद्यालय इंदिरा गांधी स्कूल का राज्य सरकार की योजना के अंतर्गत “मेरी सामाजिक जिम्मेदारी” के तहत डी-बाली ग्रुप ने आधुनिकीकरण कर मिसाल पेश की है। आधुनिकीकरण के बाद शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शुभारंभ किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि जिले के 1109 राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 528 का काय कल्प किया जा रहा है। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते अभी इन स्कूलों को कार्य अधर में अटक गया है। काशीपुर के मोहल्ला गंज स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय इंदिरा गांधी स्कूल की स्थापना वर्ष 1961 में हुई थी। समय के साथ-साथ यह स्कूल जर्जर हालत में पहुंच गया। इस दौरान राज्य सरकार की “मेरी सामाजिक जिम्मेदारी” योजना के अंतर्गत डी-बाली ग्रुप के प्रबंधक निदेशक दीपक बाली व कंपनी निदेशक उर्वशी बाली ने स्कूल की जर्जर हालत देखकर राज्य सरकार की योजना के अंतर्गत उसके आधुनिकीकरण की जिम्मेदारी ली। ग्रुप के प्रबंधक निदेशक बाली ने बताया लगभग छह माह की अवधि में स्कूल का आधुनिकीकरण किया गया है। जिसमें कंप्यूटर कक्ष, जूम क्लास रूम, ऑन लाइन पढ़ाई कक्ष, मिड-डे मील भोजन के लिए लंच कक्ष, संगीत क्लास व आधुनिक शौचालय के साथ बच्चों के लिए मनमोहक विभिन्न रंगों का फर्नीचर व मिड-डे मील के बर्तन की व्यवस्था की गई। इसके अलावा स्कूल परिसर में चार सीसीटीवी कैमरे, दो कंप्यूटर और कक्षाओं में एलईडी लगाई गयी है।

इस दौरान मीडिया से बातचीत में शिक्षा मंत्री पांडे ने कहा कि जिले के 1109 राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 528 का सीएसआर योजना के अंतर्गत उद्योग जगत द्वारा आधुनिकीकरण कराया जा रहा है। बताया यह जिले का पहला स्कूल बन गया है। जहां बच्चों के लिए बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई गई है। सरकारी स्कूलों में रिक्त शिक्षकों के पद गेस्ट टीचरों से भरे जा रहे हैं। इसी क्रम में प्रथम चरण में 3250 शिक्षकों की तैनाती की जा चुकी है। जो शेष रह गयी है उसको शीघ्र भरने की तैयारी की जा रही है। इसके अलावा लॉक डाउन के बाद डीएलएड के शिक्षकों की भी तैनाती की प्रक्रिया जल्दी शुरु होगी। साथ ही बताया अब स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को उच्च क्वालिटी का भोजन मिलेगा इसके लिए कुंडेश्वरी में अक्षय पात्र फरवरी से काम शुरु कर देगा। जहां से 30 हजार बच्चों को बेहतर क्वालिटी का भोजन स्कूलों को भेजा जाएगा।

वहीं उन्होंने कहा रा.प्रा.वि.इंदिरा गांधी स्कूल के आधुनिकीकरण के बाद जल्दी एक और शिक्षक की तैनाती कराने की व्यवस्था के लिए जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक एके सिंह करने को कहा। प्रदेश में स्कूलों में फीस के लिए मचे बवाल के बावत उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के निर्देश का पालन कर रहे हैं जो स्कूल बच्चों को ऑनलइन शिक्षा नहीं दे रहे हैं उनको फीस लेने का अधिकार नहीं है लेकिन जो स्कूल बच्चों को ऑनलइन शिक्षा दे रहे हैं उनको फीस लेनी चाहिए। वहीँ उन्होंने कह कि जिन अभिभावकों के बच्चे शिक्षा ले रहे हैं उनको नैतिकता के आधार पर फीस देनी चाहिए।

स्कूल खोलने के बारे उन्होंने कहा कि सम्बंधित अधिकारीयों के माध्यम से अभिभावकों और स्कूल एसोसिएशन से रिपोर्ट एकत्र की हैं ! इस सम्बन्ध में कल 13 तारीख को बैठक बुलाई है प्रदेश की समीक्षा इस बैठक में करने के बाद मामला कैबिनेट में लिया जायेगा जिसके बाद निर्णय लिया जायेगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here