उत्तराखंड : लॉकडाउन में गरीबों के लिए रहनुमा बनकर सामने आए दारोगा रमेश चंद्र बेलवाल, कंधों पर ली जिम्मेदारी

उधम सिंह नगर : (मोहम्मद यासीन) : कोरोना के संकट काल में जितना योगदान कोरोना वारियर्स दे रहे हैं, उतना और कोई इस लड़ाई में दे ही नहीं सकता. लोगों को जागरूक करने से लेकर उनकी जरूरतों का ख्याल रखने और उनकी मदद के लिए कोरोना वारियर्स हर वक्त तैयार रहते हैं.कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन ने लोगों की रोजी-रोटी पर चोट पहुंचाई है। कई लोग ऐसे हैं जो रोज कमाने-खाने वाले हैं। लॉकडाउन ने उनकी आजीविका को बंद कर दिया। हालांकि इस बुरे समय में भी कई लोग रहनुमा बनकर सामने आए हैं और जरूरतमंदों की मदद की। उनमे से एक हैं उत्तराखंड के उधम सिंह नगर  जिले के कोरोना वारियर चौकी प्रभारी दरऊ Si रमेश चंद्र बेलवाल…जिन्होंने अपनी कर्तव्यपरायणता के साथ-साथ उदार व्यवहार को लेकर इन दिनों सुर्खियों में हैं. उत्तराखंड पुलिस में चौकी प्रभारी दरऊ किच्छा Si रमेश चंद्र बेलवाल.कोरोना वारियर बनकर लोगों को जागरूक करने और नियमों का पालन कराने में अपना योगदान लगातार दिया है. इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान गरीबों की जरूरतों का ख्याल रखना और उनकी मदद करना उन्हें लोकप्रिय कर रहा है.

लॉकडाउन के दौरान की गरीबों की मदद

उत्तराखंड के किच्छा कोतवाली पुलिस में चौकी प्रभारी दरऊ रमेश चंद्र बेलवाल ने कोरोना वारियर बनकर लोगों को जागरूक करने और नियमों का पालन कराने में अपना योगदान लगातार दिया है. इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान गरीबों की जरूरतों का ख्याल रखना और उनकी मदद करना उन्हें लोकप्रिय कर रहा है. साइकलि सवार की मदद करने से लेकर स्थानीय लोगों को राशन बांटा यहां तक की खुद कंधे पर राशन लादकर उनके घर तक पहुंचाया। लॉक डाउन के शुरू में उन्होंने हजारों की संख्या में भूखे लोगों को भी  निस्वार्थ भाव से भोजन कराया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here