उत्तराखंड : बहन से फोन कर बोला : मैने लल्ला को मार दिया, अब मैं मर रहा हूं और फिर उठाया ये कदम

 

किच्छा : एक दिन पहले 2 साल के मासूम भांजे को घुमाने निकले रुद्रपुर निवासी युवक का शव किच्छा में एक पेड़ पर लटका मिला, जिससे क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई। इससे बड़ी बात ये है कि मामा ने खुद को फांसी के फंदे पर लटकाने से पहले 2 साल के मासूम भांजे को मार दलाल और गड्ढे में दफना दिया। मृतक ने घर से निकलने के बाद दोपहर में अपनी बहन को फोन कर कहा था कि उसने भांजे की हत्या कर दी है और अब वह खुद आत्महत्या करने जा रहा है। युवक का शव मिलने से परिजन आशंकित हैं कि कहीं उसने सच में ही तो बच्चे की हत्या नहीं कर दी है। पुलिस लापता मासूम की तलाश में जुटी है। इधर, मृतक के उठाए गए कदम से परिजन हैरान हैं।

किच्छा में सोमवार तड़के लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि हल्द्वानी रोड पर सड़क किनारे एक पेड़ पर एक युवक का शव लटका पड़ा है। टीम के साथ मौके पर पहुंचे एसएसआई बीबी आर्य ने देखा कि शव कपड़े से बने फंदे पर जामुन के एक पेड़ पर लटका हुआ था। उन्होंने बताया कि वह अभी जांच कर ही रहे थे कि मृतक के फोन की घंटी बज गई। पुलिस ने मृतक की जेब से फोन निकालकर उसी नंबर पर फोन किया, जिसके सहारे मृतक की शिनाख्त ट्रांजिट कैंप रुद्रपुर वार्ड तीन निवासी अरुण कुमार के रूप में हुई।

पुलिस के अनुसार अरुण रविवार सुबह से अपने दो के भांजे धीरज (लल्ला) के साथ लापता था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा। मौके पर पहुंची अरुण की बहन नीरज देवी ने बताया कि अरुण ने रविवार की दोपहर करीब 12 बजे उसे फोन कर कहा था कि उसने भांजे लल्ला को मार दिया है और अब खुद भी आत्महत्या कर रहा है। नीरज ने बताया कि उसे लगा कि भाई शायद मजाक कर रहा है, लेकिन शाम तक जब वह घर नहीं लौटा तो उसने अन्य परिजनों को अरुण के आए फोन के बारे में बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here