उत्तराखंड डीजीपी की चेतावनी, सोशल मीडिया पर की ऐसी पोस्ट तो नहीं बनेगा पासपोर्ट और शस्त्र लाइसेंस

देहरादून : सोशल मीडिया का इस्तेमाल आज हर कोई कर रहा है। हर कोई फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, ट्विटर का इस्तेमाल कर रहा है। कोई सोशल मीडिया और इंटरनेट का सही इस्तेमाल करता है और अच्छी जानकारियों लेता और शेयर करता है तो कोई अफवाह फैलाने और शांति भंग करने का काम करते हैं जिससे अक्सर कई बड़े बड़े दंगे तक हो जाते हैं। वहीं ऐसों पर अब उत्तराखंड पुलिस अपनी नजर बनाए है। जी हां बता दें कि सोशल मीडिया पर जाने-अनजाने में राष्ट्र विरोधी और असामाजिक टिप्पणी की तो भविष्य में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि सोशल मीडिया पर राष्ट्र विरोधी पोस्ट शेयर करने पर आपको पासपोर्ट आवेदन करने और शस्त्र लाइसेंस बनाने में दिक्कत होगी या यूं कहें कि आपका लाइसेंस और शस्त्र लाइसेंस नहीं बनेगा। इसकी चेतावनी डीजीपी अशोक कुमार ने ट्वीट कर दी है। बता दें कि पुलिस पासपोर्ट आवेदन और शस्त्र लाइसेंस बनाने के लिए सत्यापन के समय सोशल मीडिया पर भी व्यक्ति का रिकॉर्ड खंगालकर रिपोर्ट लगाएगी। सत्यता पाए जाने पर आवेदन निरस्त भी किया जा सकता है। इससे पासपोर्ट और शस्त्र लाइसेंस ही नहीं बल्कि नौकरी में आवेदन के समय भी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

डीजीपी अशोक कुमार ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर कर चेतावनी दी कि सोशल मीडिया पर राष्ट्र विरोधी एवं असामाजिक पोस्ट करने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड रखा जाएगा और भविष्य में उनके द्वारा पासपोर्ट एवं आर्म्स लाइसेंस के अनुरोध करने पर सत्यापन कार्यवाही में इसका उल्लेख भी किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here