उत्तराखंड ब्रेकिंग : पत्रकार शिवप्रसाद सेमवाल को नैनीताल हाईकोर्ट से मिली जमानत

नैनीताल : नैनीताल हाईकोर्ट से बड़ी खबर सामने आई है। ये खबर पत्रकार जगत के लिए एक अच्छी खबर है। जी हां बता दें कि रंगदारी और ब्लैक मेलिंग के आरोप में पिछले 1 महीने से भी अधिक समय से जेल में बंद पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को नैनीताल हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। आज इस मामले में एकलपीठ ने सुनवाई करते हुए उन्हें जमानत दे दी है। बता दें कि शिव प्रसाद सेमवाल पर्वतजन न्यूज पोर्टल के संपादक हैं।

ये है पूरा मामला

याचिका पर सुनवाई न्यायमूर्ति एन.एस.धनिक की एकलपीठ में हुई।मामले के अनुसार बीती 27 अक्टूबर 2019 को नीरज राजपूत ने अमित पाल और शिव प्रसाद के खिलाफ देहरादून के सहसपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। शिकायतकर्ता ने कहा था की शिव प्रसाद और अमित पाल ने खबर प्रकाशित करके उनकी राजनैतिक छवि को धूमिल करने और ब्लैक मेलिंग करने का प्रयास किया। इससे उनकी राजनैतिक छवि धूमिल भी हुई। बीती 22 नवंबर को देहरादून की नेहरू कॉलोनी स्थित आवास से शिव प्रसाद को गिरफ्तार किया गया था।

शिव प्रसाद को साजिशन फंसाया गया- वकील

सुनवाई के दौरान शिव प्रसाद के वरिष्ठ अधिवक्ता व पूर्व महाधिवक्ता वी.बी. एस.नेगी ने न्यायालय को बताया की शिव प्रसाद को साजिशन फंसाया गया है। उन्होंने कभी किसी को ब्लैकमेल नहीं किया और उन्होंने किसी से भी रंगदारी वसूल नहीं की, बल्कि उन्होंने निष्पक्ष पत्रकारिता की। अधिवक्ता ने एकलपीठ को बताया की निष्पक्ष पत्रकारिता करने की वजह से ही उन्हें यह सजा दी गई है।

सीएम त्रिवेंद्र रावत ने लिया था संज्ञान लिया

बता दें कि झूठे मुकदमें में जेल में बंद किए गए उत्तराखंड के पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल के मामले का सीएम त्रिवेंद्र रावत ने संज्ञान लिया था और एसएसपी अरुण मोहन जोशी से जांच रिपोर्ट मांगी थी। उसके बाद उत्तराखंड के पत्रकार संगठनों द्वारा इसके खिलाफ आवाज उठाई गई।वहीं आज उन्हें नैनीताल हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। जिससे पत्रकार जगत में खुशी की लहर है।
पत्रकारों ने आरोप लगाया था कि सरकार के दबाव में आकर पुलिस ने शिवप्रसाद को गिरफ्तार किया है। क्योंकि आए दिन पर्वतजन पोर्टल सत्ता पक्ष और विपक्ष के खिलाफ खबरें लिखते आ रहे हैं औऱ इसी को शिवप्रसाद सेमवाल की गिरफ्तारी की वजह पत्रकार जगत ने माना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here