उत्तराखंड : एक बाइक में बैठ थे 6 लोग, बुझा घर का चिराग, एक ही परिवार के 3 लोगों की जान

मंगलौर : बाइक पर दो से ज्यादा सवारी बैठाने की अनुमति नहीं है। लोग अक्सर तीन सवारी भी बिठा लेते हैं। कई बार चार सवारी भी बाइक पर बैठी नजर आती है। लेकिन, रुड़की के मंगलौर में एक ऐसा मामले सामने आया है, जिसमें एक युवक बाइक पर 6 लोगों को लेकर जा रहा था। सभी एक ही परिवार के थे। मंगलौर में ट्रक की टक्कर से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई।

हादसे में बाइक चला रहे युवक कुलदीप की पत्नी के साथ घर का इकलौता चिराग भी बुझा गया। भाभी की भी मौत हो गई। रुड़की से पत्नी और बेटे को लेकर बाइक से घर निकले कुलदीप को रास्ते में अपनी भाभी और दो बच्चों को बैठा लिया। भाई के दोनों बच्चों को भी गंभीर चोटें आई हैं। हादसा शनिवार का बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार मंगलौर निवासी कुलदीप किसी काम से अपनी पत्नी पूनम और डेढ़ साल के बेटे सागर को लेकर रुड़की आया था। दोपहर में तीनों बाइक से घर लौट रहे थे।

इसी बीच रोडवेज बस स्टैंड के पास उसके भाई संदीप की पत्नी मीनाक्षी अपने दो बच्चों चिंकी और किरण के साथ घर जाने के लिए सवारी का इंतजार कर रही थी। भाभी को देख कुलदीप ने बाइक रोक ली और तीनों को बैठा लिया। इसके बाद एक ही बाइक पर सभी लोग मंगलौर की ओर चल पड़े। इस बीस रास्त में अनियंत्रित ट्रक ने टक्कर मार दी। हादसे में कुलदीप की पत्नी पूनम और बेटे सागर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कुलदीप, उसकी भाभी के दोनों बच्चे भी गंभीर रूप से घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here