बेरोजगार बोले- शऱाब नहीं रोजगार चाहिए, हमने पकौड़े तलने की ट्रेनिंग नहीं ली डबल इंजन साहब!

देहरादून: अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बीपीएड एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगार संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे से मुलाकात की. यह मुलाकात यमुना कॉलोनी स्थित उनके आवास पर हुई. इस दौरान उन्होंने शिक्षा मंत्री को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा. वहीं, शिक्षा मंत्री ने प्रशिक्षित बेरोजगारों को आश्वस्त किया कि जल्द ही जूनियर विद्यालयों में बीपीएड व एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों को शारीरिक शिक्षक बनने का मौका दिया जाएगा.

बीपीएड एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों की निम्नलिखित प्रमुख मांगे हैं…

एनसीईआरटी गाइडलाइन के अनुसार शारीरिक शिक्षा अनिवार्य होने के सापेक्ष में कक्षा 1 से कक्षा 10 तक प्रत्येक विद्यालय में शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति की जाए.प्रत्येक प्राथमिक विद्यालयों में शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति वर्ष वार हो.प्रत्येक उच्च प्राथमिक, शासकीय व अशासकीय विद्यालयों में शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति की जाए।शासकीय अशासकीय इंटर कॉलेज में व्यायाम प्रवक्ता पद की नियुक्ति की जाए।

बेरोजगार बोले- शराब नहीं रोजगार चाहिए

उत्तराखंड बीपीएड प्रशिक्षित ने प्रदेश में शराब सस्ती होने पर भी नाराजगी जाहिर करते हुए सरकार को घेरा और रोजगार की मांग को लेकर बैनर लेकर विरोध जताया। बीपीएड प्रशिक्षितों ने कहा कि हमने पकौड़े तलने की ट्रेनिंग नहीं ली है डबल इंजन साहब। साथ ही कहा कि  हमें सरकारी स्कूलों के बच्चों को शारीरिक शिक्षा देकर उनके और अपने जीवन मे अच्छे दिन लाने हैं  लेकिन आपके ‘अच्छे दिन’ की सौगात हमें अभी तक नही मिली है।

बता दें कि फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में धाधंली के बाद बेरोजगारों का गुस्सा चरम पर है। युवाओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है और सरकार से सिर्फ रोजगार की मांग कर रहे हैं। वहीं एनएसयूआई गैरसैंण में बजट सत्र के दौरान सरकार का परीक्षा धांधली को लेकर घेराव करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here