उत्तराखंड : अपना चालान कटता देख CPU पर भड़के भाजपा नेता, जमकर मचाया बवाल

हल्द्वानी : नियम-कानून सबके लिए बराबर है चाहे वो कोई नता हो या खुद एक पुलिसकर्मी…मंचों से नेता कई बड़े वादे और दावे के साथ आम जनता को नियमों का पालन करने की सलाह देते हैं लेकिन खुद कितनी इन सलाहों को मानते हैं इसका उदाहरण हल्द्वानी के मुखानी आईटीआई में देखने को मिला.

चस्पा चालान देख भड़के भाजपा नेता

दरअसल मुखानी-आइटीआइ नहर कवरिंग रोड पर एक निजी अस्पताल के बाहर खड़ी भाजपा नेता विजय मनराल की कार का सीपीयू ने चस्पा चालान कर दिया जिसे देख भाजपा नेता भड़क गए औऱ उन्होंने मौके पर जमकर बखेड़ा खड़ा किया. इतना ही नहीं अन्य भाजपाइयों ने भी जमकर बवाल काटा। उन्होने एसएसपी से शिकायत करने की बात कही.

सीपीयू ने किया अस्पताल के बाहर खड़े वाहनों का चालान

मिली जानकारी के अनुसार उत्तराखंड मंडी परिषद के अध्यक्ष गजराज बिष्ट की पत्नी की तबीयत बिगडऩे पर उन्हें मुखानी-आइटीआइ स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शुक्रवार दोपहर करीब 3.30 बजे भाजपा नगर अध्यक्ष विजय मनराल उनका हाल जानने पहुंचे थे। इसी दौरान सीपीयू ने अस्पताल के आसपास सड़क किनारे खड़े करीब 15 दोपहिया वाहन और चार कारों के चस्पा चालान किया। इसमें भाजपा नगर अध्यक्ष की कार भी शामिल थी।

चस्पा चालान देखकर भड़के नेता

जानकारी मिली कि कुछ देर बाद विजय मनराल अस्पताल से निकले तो उनकी कारों के साथ ही बाइकों में लगे चस्पा चालान देख वो भड़क गए। कुछ हर देर मे भाजपा के प्रवक्ता डॉ. अनिल डब्बू, धु्रव रौतेला, कार्तिक हर्बोला, प्रमोद बोरा समेत कई भाजपा व भाजयुमो नेता मौके पर पहुंच गए। भाजपाइयों ने कहा कि अस्पताल में डेंगू और बुखार के क्षमता से कहीं अधिक मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। जिससे की अस्पतालों की पार्किंग फुल है जिस कारण लोग सड़क किनारे वाहन खड़े करने को मजबूर हैं। ऐसी हालातों में सीपीयू को मानवीयता दिखाते हुए कार्रवाई में ढील बरतनी चाहिए, जबकि सीपीयू मरीज व तीमारदारों के चालान काटकर और मानसिक व आर्थिक दबाव डाल रही है। भाजपा नेताओं ने सीओ सिटी से भी फोन पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई।

सीपीयू प्रभारी ने चस्पा चालान निरस्त करने का दिया भरोसा

वहीं विवाद की सूचना पर सीपीयू प्रभारी हरकेश सिंह भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सभी मरीज व तीमारदारों के चस्पा चालान निरस्त करने का भरोसा दिलाया। भाजपा नेताओं ने शनिवार को जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के नेतृत्व में एसएसपी सुनील कुमार मीणा से मिलकर अपनी आपत्ति दर्ज कराने व डेंगू के बिगड़ते हालात को देखते हुए अस्पतालों के बाहर खड़े मरीजों व तीमारदारों के वाहनों को रियायत देने की मांग उठाने का निर्णय लिया है।

सीपीयू की कार्रवाई पूरी तरह से वैधानिक-सीओ सिटी

हल्द्वानी सीओ सिटी डीसी ढौंडियाल ने बताया कि सीपीयू की कार्रवाई पूरी तरह से वैधानिक थी। मरीज व तीमारदारों को अन्य मरीज व तीमारदारों की समस्याओं को समझना चाहिए। अगर सड़क पर खड़े वाहनों से जाम लगा तो दूसरों को दिक्कतें होंगी। यातायात व्यवस्था सुचारू रखना और नियम विरुद्ध खड़े वाहनों पर कार्रवाई की जिम्मेदारी सीपीयू को दी गई है। अगर किसी को कोई आपत्ति है तो इसकी जांच कर कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here