उत्तराखंड : यात्रियों के लिए बड़ी राहत, इतना सस्ता हुआ किराया

देहरादून: अगर आप ट्रेन से सफर करते हैं, तो ये खबर आपके लिए है। कोरोना काल में ट्रेनों का किराया तीन गुना तक बढ़ा दिया गया था, जिसके चलते लोगों को महंगा किराया देना पड़ रहा है। ट्रेनों को स्पेशल में कनवर्ट कर दिया था, लेकिन अब उनसे स्पेशल का टैग हटा दिया गया है। हरिद्वार से संचालित होने वाली 34 जोड़ी ट्रेनों के पुराने व नए नंबर जारी किए गए हैं। जिससे रेल यात्रियों को 30 फीसदी किराया कम देना होगा।

कोरोना के बाद रेलवे ने नियमित ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। उनकी जगह नियमित ट्रेनों को स्पेशल ट्रेन बनाकर संचालित किया गया। पुराने ट्रेन के नंबर के आगे से एक या दो हटाकर शून्य कर दिया था। इससे यात्रियों को 15 से 30 फीसदी तक अधिक किराया देना पड़ रहा था। कोरोना संक्रमण का असर कम होने के बाद रेल प्रशासन 15 नवंबर से नियमित स्पेशल ट्रेनों का धीरे-धीरे नंबर बदलने का काम कर रहा है।

जिस ट्रेन के नंबर से शून्य हटाया जा रहा है, उस ट्रेन का किराया 30 फीसदी तक कम हो जाता है। कोरोना काल में ट्रेनों का किराया कम होने से रेलवे की आमदनी 80 फीसदी तक कम हो गई थी। लेकिन, पिछले सप्ताह से किराए में 30 फीसदी कमी कर दी गई है। इससे ट्रेनों में फिर से यात्रियों की भीड़ जुटना शुरू हो गई है।

कोरोना संक्रमण के कारण स्पेशल टैग से ट्रेनों को संचालित करने से हरिद्वार से मुरादाबाद जाने के लिए अब स्लीपर का किराया 145 रुपये देना होगा। जबकि थर्ड थ्री का किराया 505 व सेकेंड एसी का किराया 710 रुपये हो गया है। जबकि शून्य का टैग लगने के दौरान हरिद्वार से मुरादाबाद का स्लीपर का किराया 188 रुपये, थर्ड एसी का 655 रुपये व सेकेंड एसी का किराया 920 रुपये था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here