उत्तराखंड : राहुल की रैली में बीसी खंडूरी के मंच पर नजर आने को लेकर बड़ा खुलासा, पुख्ता जानकारी

देहरादून। उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव के महासंग्राम के बीच जहां भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे पर बयानों के जरिए वोटरों का विश्वास जीतने के लिए मनोवैज्ञानिक बढ़त बनाने का काम कर रहे हैं तो वहीं उत्तराखंड के पूर्व सीएम और पौड़ी गढ़वाल से निवर्तमान सांसद भुवन चंद्र खंडूरी के कांग्रेस में शामिल होने की संभावनाएं भी जोर पकड़ रही है.

खबर उत्तराखंड की पुख्ता जानकारी

जी हां सोशल मीडिया से लेकर कई मीडिया चैनलों में इस खबर को प्रसारित किया जा रहा है कि 6 अप्रैल को श्रीनगर गढ़वाल में राहुल गांधी रैली में भुवन चंद्र खंडूरी मंच पर नजर आएंगे और पौड़ी लोकसभा की जनता से अपने बेटे मनीष खंडूरी के लिए वोट करने की अपील करेंगे, लेकिन खबर उत्तराखंड आपको पुख्ता जानकारी दे रहा है कि भुवन चंद्र खंडूरी का ऐसा कोई इरादा नहीं है कि वह कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा करें।

अफवाहों पर लगाया विराम

खबर उत्तराखंड जब इस खबर की तह तक गया कि क्या वास्तव में जो मीडिया चैनलों और सोशल मीडिया पर जो लोग इस बात को कह रहे हैं कि भुवन चंद्र खंडूरी राहुल के साथ मंच साझा करेंगे तो कई चौंकाने वाली बातें खबर उत्तराखंड को इस खबर की पुष्टि करने में मिली, पहली बात तो यही निकल कर आई कि बीसी खंडूरी राहुल के साथ मंच साझा नहीं करेंगे.

खबर उत्तराखंड के उन्ही सूत्रों के द्धारा किया गया खुलासा

इस खबर की पुष्टि खबर उत्तराखंड के उन्ही सूत्रों के द्धारा की गई है जिन्होने सबसे पहले उत्तराखंड खबर जनता को ये बताया था कि मनीष खंडूरी कांग्रेस में शािमल होने जा रहे हैं. खबर उत्तराखंड ने भी मनीष खंडूरी के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर सबसे पहले खबर चलाई थी,जब पूरे देश की मीडिया ये चला रहा था कि मनीष खंडूरी कांग्रेस ज्वाइन कर सकते हैं. तब खबर उत्तराखंड ने अपने सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुख्ता खबर प्रसारित करते हुए मनीष खंडूरी कांग्रेस ज्वॉइन करेंगे और क्यों ज्वॉइन करेंगे ये भी बताया था और एक बार फिर खंडूरी परिवार के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार इस बात को कह रहा है कि भुवन चंद्र खंडूरी राहुल के साथ मंच साझा नहीं करेंगे।

बेटे के साथ अर्शीवाद, लेकिन नहीं मांग रहे है वोट

मनीष खंडूरी जिस दिन कांग्रेस में शामिल हुए उसी दिन उन्होने कह दिया था कि अपने पिता से आर्शीवाद लेकर वह कांग्रेस में शामिल होने आए हैं. वहीं बीसी खंडूरी ने भी साफ कहा था कि मनीष कोई भी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है लेकिन वह भाजपा के सिपाही थे और भाजपा के ही सिपाही रहेंगे, लेकिन जिस तरह से भुवन चंद्र खंडूरी के कांग्रेस में जाने को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही है उससे षड़यंत्र की बू नजर आ रही है और भाजपा भी इसे षडयंत्र करार दे चुकी है.

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन का बयान

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन का कहना है कि कांग्रेस षड़यंत्र के तहत दुस्प्रचार कर रही है. भुवन चंद्र खंडूरी भाजपा में ही हैं। वहीं हमारे सूत्र भी इसे महज भ्रामक खबर बता रहे हैं. सूत्रों की मानें तो खंडूरी ने अपने बेटे को आर्शीवाद जरूर दिया है लेकिन अभी तक किसी भी ऐसे नेता या कार्यकर्ता जो खंडूरी के करीबी रहें हों…मनीष को वोट या समर्थन देने के लिए फोन नहीं किया है।

खंडूरी का स्वास्थ्य खराब, नहीं मांगेगे वोट

उत्तराखंड की जनता की नजर भी इस बात पर लगी है कि आखिर वह समय कब आएगा जब भाजपा के स्टाॅर प्रचार की सूची में जगह बनाने वाले बीसी खंडूरी पौड़ी लोकसभा पर अपने बेटे के खिलाफ वोट मांगने की अपील करेंगे और प्रदेश के अन्य भाजपा सांसदों को जिताने के लिए जनता के बीच उतरेंगे लेकिन जो जानाकरी निकल कर सामने आ रही है उसके मुताबिक बीसी खंडूरी इस लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए प्रचार प्रसार करते हुए नजर नहीं आएंगे और इसकी वजह उनका खराब स्वास्थ्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here