उत्तराखंड को एक और बड़ी उपलब्धि, पौड़ी का लाल बना देश का पहला CDS

देहरादून : उत्तराखंड को एक और बड़ी उपलब्धि औऱ पहचान मिली है. जी हां उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के लाल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत को देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पीएम मोदी ने बिपिन रावत पर भरोसा जताते हुए उन्हें देश का पहला सीडीएस बनाया है।

31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं बिपिन रावत 

बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का कार्यकाल 3 साल के लिए और बढ़ा दिया है. अब चीफ ऑफ डिफेंस के रिटायर होने की उम्र 65 वर्ष होगी. 65 साल की उम्र पूरी होने के बाद ही इस पद से सीडीएस रिटायर होंगे. पहले 62 साल में ही रिटायर होने का प्रावधान था. बता दें कि31 दिसंबर को बिपिन रावत रिटायर हो रहे हैं। जब से पीएम मोदी ने इस पद की घोषणा की थी तब से अटकलें लगाई जा रही थी कि बिपिन रावत को ही ये पद सौंपा जाएगा जो की आज सच साबित हुई।

तीनों सेनाओं से जुड़े मामलों में देनी होती है रक्षामंत्री को सलाह 

आपको बता दें कि सीडीएस की जिम्मेदारी तीनों सेनाओं से जुड़े मामलों में रक्षामंत्री को सलाह देना है. सीडीएस ही रक्षामंत्री का प्रधान सैन्य सलाहकार होगा. हालांकि सैन्य सेवाओं से जुड़े विशेष मामलों में तीनों सेनाओं के चीफ पहले की तरह रक्षामंत्री को सलाह देते रहेंगे.

तीनों सेनाओं के बीच तालमेल बैठाएगा सीडीएस

बता दें कि सीडीएस सैन्य अभियान के दौरान तीनों सेनाओं के बीच तालमेल बैठाने का काम करेगा. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के पद पर 4 स्टार जनरल रैंक के सैन्य अधिकारी को नियुक्त किया गया. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को तीनों सेनाओं के प्रमुखों के बराबर सैलरी दी जाएगी.

गौरतलब है कि हाल ही में केंद्र सरकार ने चीफ ऑफ डिपेंस स्टाफ पद को मंजूरी दी थी. चीफ ऑफ डिफेंस बिना रक्षा सचिव की मंजूरी के रक्षा मंत्री से सीधे मुलाकात कर सकेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here