उत्तराखंड: बद्रीनाथ और गौरीकुंड मार्ग पर डेंजर जोन पर तैनात रहेगी एंबुलेंस

रुद्रप्रयाग: पहाड़ी जिलों में लगातार आपदा का खतरा बना रहता है। इसको देखते हुए आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील रुद्रप्रयाग जिले में बरसाती सीजन में बदरीनाथ व गौरीकुंड राजमार्ग के डेंजर जोन प्वाइंट पर एंबुलेंस तैनात रहेंगी। हाईवे के बंद होने पर कौन से संपर्क मार्ग का उपयोग होगा, इसका खाका भी तैयार किया गया है।

उसका प्रसव जंगल में ही कराना पड़ा था। ऐसी समस्या दोबारा न हो इसके लिए जिला आपदा प्रबंधन विभाग ने ऋषिकेश-बदरीनाथ व रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राजमार्ग सहित तिलवाड़ा-जखोली मोटर मार्ग पर चिह्नित डेंजर जोन पर एंबुलेंस तैनात करने का निर्णय लिया है। इसके तहत बदरीनाथ हाईवे पर सिरोहबगड़ से नरकोटा के बीच एंबुलेंस की सुविधा रहेगी।

यहां हाईवे अवरुद्ध होने की स्थिति में एंबुलेंस सुमाड़ी-घेंघडखाल-सौराखाल होते हुए बेस अस्पताल श्रीनगर पहुंचेगी। दूसरी तरफ गौरीकुंड हाईवे पर तिलवाड़ा के समीप नौलापानी, बांसवाड़ा, काकड़ागाड़-कुंड और डोलियाखाट में एंबुलेंस तैनात की जाएंगी। इसके अलावा जखोली ब्लॉक के लिए तिलवाड़ा-मयाली-जखोली मोटर मार्ग पर तुनेटा में भी एंबुलेंस प्वाइंट बनाया गया है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवान का कहना है कि मानसून सीजन में बदरीनाथ व गौरीकुंड हाईवेबंद होने से गर्भवती, बीमार व जरूरतमंदों को अस्पताल पहुंचाने में खासी दिक्कतें होती हैं। इस बरसात में दोनों हाईवे पर डेंजर जोन प्वाइंट पर एंबुलेंस तैनात की जाएंगी। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग व सीएमओ कार्यालय से सहमति मिल गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here