उत्तराखंड। खराब सड़क के झटकों से तड़पी गर्भवती, एंबुलेंस में ही प्रसव

champawat news delivery of baby in ambulence

 

चंपावत जिले के दूरस्थ चौरागूठ क्षेत्र में एक महिला ने 108 एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दिया है। महिला को नर्सों की हड़ताल के चलते पास के अस्पताल में प्रसव की सुविधा नहीं मिल पाई।

बताया जा रहा है कि चौरागूठ क्षेत्र की पुष्पा देवी को प्रसव पीड़ा हुई। महिला के पति प्रकाश राम ने 108 पर कॉल कर एंबुलेंस बुलाई। इसके बाद पुष्पा को नजदीकी इलाके पाटी में अस्पताल में पहुंचाया गया। लेकिन नर्सों की हड़ताल के चलते पुष्पा को वहां प्रसव की सुविधा नहीं मिल पाई। लिहाजा उसे 80 किलोमीटर दूर लोहाघाट उप जिला अस्पताल लाने की तैयारी की गई।

लेकिन लोहाघाट का रास्ता इतना खराब था कि महिला की हालत बीच में ही बिगड़ने लगी। सड़क पर लग रहे झटकों से महिला को असहनीय प्रसव पीड़ा होने लगी। इसके बाद आनन फानन में लोहाघाट अस्पताल से तकरीबन 20 किलोमीटर पहले ही खेतीखान के पास आशा कार्यकर्ता भावना बोरा और 108 में मौजूद चिकित्सादल ने एंबुलेंस में ही प्रसव कराने का फैसला लिया।

सोशल मीडिया में हिंदूवादी पोस्टें और गैरसैंण को जिला बनाने की मांग, तेवर वाले हैं महेंद्र भट्ट

इसके बाद पुष्पा को एंबुलेंस में ही प्रसव कराया गया जहां उसने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद दोनों को किसी तरह लोहाघाट उप जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां चिकित्सा अधीक्षक डाक्टर जुनेद ने पुष्पा और उसके बच्चे का चेकअप किया। फिलहाल जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

वहीं स्थानीय लोग एंबुलेंस में प्रसव की नौबत आने को लेकर नाराज हैं। लोगों की मांग है कि सड़कें दुरुस्त की जाएं इसके साथ ही न सिर्फ मेडिकल स्टाफ बढ़ाया जाए बल्कि हड़ताल जैसी परिस्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था भी हो।

(लोहाघाट से लक्ष्मण बिष्ट से मिले इनपुट्स के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here