उत्तराखंड : इस बड़े घोटाले में 82 आरोपियों को कोर्ट में पेश होने का नोटिस, बढ़ी मुश्किलें

 

 

नैनीताल: उत्तराखंड के सबसे बड़े घोटालों में से एक एनएच-74 मामले में जिला एवं सत्र न्यायाधीश और विशेष न्यायाधीश एंटी करप्शन राजीव खुल्बे ने मामले की सुनवाई के बाद 82 आरोपितों को नोटिस जारी कर 21 नवंबर को कोर्ट में तलब किया है।घोटाले में मुख्य आरोपियों में शामिल पीसीएस अफसर डीपी सिंह, तीर्थपाल, अनिल कुमार समेत 26 आरोपियों पर अभियोजन साक्ष्य के लिए 14 दिसंबर को सुनाई की डेट तय की है।

करीब 500 करोड़ से अधिक के एनएच-74 मुआवजा घोटाले में आरोपियों पर अदालत का शिकंजा कसने लगा है। घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने 82 आरोपियों की बिना गिरफ्तारी के उनके खिलाफ एंटी करप्शन कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर पल्ला झाड़ लिया। अदालत ने इसे गंभीरता से लिया है और इन 82 आरोपियों को 21 नवंबर को तलब किया है। कोर्ट के सख्त रुख के बाद इनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं।

उधमसिंह नगर जिले में एनएच चैड़ीकरण के लिए अधिग्रहण की गई जमीन की श्रेणी बदलकर करोड़ों का घोटाला किया गया था। इसमें अधिकारियों के साथ ही किसान, राजस्व कर्मचारी और अन्य लोग शामिल रहे। घोटाले के आरोपी अफसरों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई, जो अब बहाली के बाद फिर से अहम पदों पर तैनाती पा चुके हैं। हालांकि कोर्ट की सख्ती के बाद एक बार फिर से इनकी दिक्कतें बढ़ना तय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here