उत्तराखंड 2022 की बिसात : इस सीट पर वोटों का जटिल गणित, कौन मारेगा बाजी

देहरादून: 2022 की बिसात में आज चुनावी रण में जोर लगाने का आखिरी दिन है। धर्मपुर विधानसभा सीट पर बन रहे त्रिकोणीय समीकरण भी बनते-बिगड़ते नजर आ रहे हैं। इस सीट से 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा-कांग्रेस के बीच निर्दलीय प्रत्याशी बीर सिंह पंवार मज़बूती से डटे हैं, जिससे धर्मपुर विधानसभा सीट पर चुनावी मुकाबला रोचक हो गया है।

देहरादून के अन्तगर्त आने वाली धर्मपुर विधानसभा सीट पर अब तक हुए विधानसभा चुनावों में मुख्य मुकाबला बीजेपी-कांग्रेस के बीच ही होता आया है, लेकिन 2022 की बिसात में इस बार इस सीट पर त्रिकोणीय समीकरण बनने से भाजपा-कांग्रेस के बीच मुकाबला रोचक हो चला है। इस सीट पर मुकाबले को त्रिकोणीय बना रहे हैं।

भाजपा से बगावत कर चुके निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी रण में उतरे बीर सिंह पंवार ने भाजपा-कांग्रेस की नींद उड़ा रखी है। लेकिन, वो भाजपा-कांग्रेस को हरा पाएंगे, इसका पता चुनाव परिणाम सामने आने के बाद ही लग पाएगा। चुनावी समर में इस बार धर्मपुर विधानसभा सीच से उक्रांद प्रत्याशी किरण रावत कश्यप ने पूरी ताकत झोंकी है।

टिकट बंटवारे के बाद इस सीट पर मुकाबला भाजपा के प्रत्याशी विनोद चमोली के साथ कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल के साथ भाजपा से बागी हुए बीर सिंह पंवार के बीच में हैं। धर्मपुर विधानसभा सीट का चुनावी इतिहास उठाकर देखा जाए तो 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने ये सीट 9 हज़ार 420 वोट के अंतर से जीती।

2017 में परिवर्तन की हवा में भाजपा ने कांग्रेस से ये सीट अपने कब्ज़े में ले ली। इस चुनाव में विनोद चमोली ने दिनेश अग्रवाल को 10 हज़ार 953 वोटों से हराया। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक इस बार 2022 की बिसात में धर्मपुर विधानसभा सीट पर 2 लाख 06 हज़ार 737 वोटर हैं। इनमें 1 लाख 11 हज़ार 239 पुरुष और 95 हज़ार 492 महिला वोटर्स हैं।

धर्मपुर विधानसभा सीट पर पहाड़ी और मुस्लिम वोटर्स की संख्या सर्वाधिक है। मिश्रित आबादी की धर्मपुर सीट पर अनुसूचित जाति पंजाबी, गोरखा और जाट वोटर्स भी हैं। ऐसे में धर्मपुर विधानसभा सीट के चुनावी रण में इस बार बाज़ी कौन मारेगा ये देखना दिलचस्प होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here