अनलॉक-5 : केदारनाथ में पहुंच रहे हजारों की संख्या में श्रद्धालु, नहीं मिल रहे कमरे

अनलॉक-5 लागू होते ही और सरकार द्वारा बाहरी राज्यों के श्रद्धालुओं को रिहायत देते ही उत्तराखंड आने वालों को जमावड़ा लग गया है। सरकार ने श्रद्धालुओं के लिए कोरोना रिपोर्ट लाने की अनिवार्यता खत्म कर दी है जिसके बाद श्रद्धालुओं का चारधाम में जमावड़ा लग गया है। सड़कों पर लंबा जाम लग रहा है। वहीं यात्रियों को होटल में कमरे नहीं मिल रहे हैं। लोगों को आवासीय कमरों के बरामदे और खुले आसमान के नीचे रात बितानी पड़ रही है।रविवार को केदारनाथ में 2675 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। अनलॉक-5 के बाद व्यवस्था चरमरा गई है। श्रद्धालुओं के लिए रहने की  व्यवस्था सिर्फ जीएमवीएन के पास है। लेकिन संख्या अधिक होने पर कमरे नहीं मिल पा रहे हैं। लोग खुले आसमान के नीचे रात गुजार रहे हैं। सरकार द्वारा यात्रा खोली गई है लेकिन पुख्ता व्यवस्था नहीं की गई है।

आपको बता दें कि बीते दो दिनों में पांच हजार से अधिक श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। जबकि कपाटोद्घाटन के बाद बीते पांच महीने में सिर्फ 10 हजार श्रद्धालु ही दर्शनों को धाम पहुंचे। 2 अक्तूबर को धाम में ढाई हजार से अधिक श्रद्धालु पहुंचे लेकिन उनको कमरे नहीं मिले। रविवार को भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला। रविवार को यात्रियों को रहने के लिए जीएमवीएन में भी कमरा नहीं मिला जिस कारण उन्हें मंदिर परिसर, मंदिर मार्ग व तीर्थ पुरोहितों के आवासीय मकानों के बाहरी बरामदों में बैठकर रात बितानी पड़ी। जीएमवीएन का केदारनाथ डोम एमआई-26 हेलीपैड के विस्तार के लिए तोड़ दिया गया है जिससे समस्या ओर अधिक बढ़ गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here