केंद्रीय मंत्री को आया गुस्सा: 420 रुपये किलो खरीदा सेब, सलाद काटने लगे तो नजर आई मोम की परत

नई दिल्ली: ग्रहक आमतौर पर खराब चीजें मिलने के बाद शिकायतें करते हैं। लेकिन, उन पर खास ध्यान नहीं दिया जाता है। सेब पर मोम की परत चढ़े होने की बातें भी कई बार सामने आई, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। इस बार जब खुद केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री के सामने ऐसी वाकया नजर आया, तो वो भड़क उठे। मोदी सरकार में खाद्य एवं आपूर्ति और उपभोक्ता मंत्रालय के मंत्री राम विलास पासवान के साथ कुछ ऐसा हुआ, जिसके बाद दुकानदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दक्षिणी दिल्ली के खान मार्केट में स्थित एक फलों की दुकान पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है। क्योंकि राम विलास पासवान को दुकान से लाए गए सेबों में मोम की परत दिखी। जिसे कि सेबों को ज्यादा चमकदार दिखाने के लिए लगाया गया था। जैसे ही उन्होंने इस मुद्दे को उठाया विभिन्न एजेंसियां कार्रवाई के मूड में आईं और उनके मंत्रालय ने खाद्य सुरक्षा नियामक (एफएसएसएआई) को पत्र लिखकर उपभोक्ताओं को विष पदार्थ वाले खाद्य पदार्थों की बिक्री पर ध्यान देने के लिए कहा है।

पासवान ने कहा कि उन्होंने एक प्रतिष्ठित दुकान से सेबों को खरीदा था। उन्होंने कहा, श्जब मैं रशियन सलाद बनाने जा रहा था तो मैंने कुक से सेबों को धोने के लिए कहा। मैं इस बात को ध्यान में रखता हूं कि सभी चमकदार खाद्य पदार्थों को अच्छी तरह से धोया जाए। उसने मुझे बताया कि कई बार धोने के बावजूद सेब चमक रहे हैं। जब उसने चाकू से मोम की परत हटाई तो हमने पाया कि सेबों को चमकदार बनाने के लिए उसपर मोम की मोटी परत लगाई गई है। मैंने अपने विभाग के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी।श् मंत्री ने बताया कि इन आयातित सेबों की कीमत 420 रुपये प्रति किलो है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here