UKSSSC पेपर लीक: 30 लाख में सौदा, घर बुलाया, हल पेपर दिया, ऐसे हुआ खुलासा

UKSSSC Paper Leak मामले में एसटीएफ ने अब अपना शिकंजा पूरी तरह कस लिया है। सीएम धामी से मिली छूट का नतीजा ये हुआ है कि एसटीएफ अब वहां तक हाथ डाल रही है जहां तक आमतौर पर हाथ डालना मुश्किल माना जा सकता है।

उत्तराखंड लोक निर्माण विभाग में अपर निजी सचिव गौरव चौहान की गिरफ्तारी से ये साफ हो गया है कि नकल माफिया फिलहाल एसटीएफ से बच नहीं पाएगा। एसटीएफ ने गौरव चौहान कि गिरफ्तारी से पहले कई ऐसे सबूत इकट्ठा किए जो हैरान करने वाले हैं।

एसटीएफ ने दरअसल पहले तुषार नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया। इस युवक ने खुद परीक्षा दी थी और उसकी 164वीं रैंक भी आई थी। उससे पूछताछ में एसटीएफ को गौरव चौहान के बारे में जानकारी मिली। हालांकि एसटीएफ हर तरह से श्योर होना चाहती थी लिहाजा पहले गौरव के खिलाफ सबूत इकट्ठे करने की चुनौती थी।

बड़ी खबर। UKSSSC पेपर लीक में अपर निजी सचिव की गिरफ्तारी

पता चला कि पेपर को रामनगर के एक रिजार्ट में हल किया गया था। वहां से हल पेपर गौरव को मिला। गौरव ने दो लोगों से 15-15 लाख रुपए में सौदा तय किया। इसके बाद हल पेपर देने के लिए दोनों को गौरव ने अपने घर बुलाया। उनको हल प्रश्न पत्र दिया। रिजल्ट आने के बाद दोनों से 24 लाख कलेक्ट किए।

बताते हैं कि जब गौरव से एसटीएफ ने पूछताछ शुरु की तो शुरुआत में वो इधर उधर की बातें करने लगा और एसटीएफ को सही जानकारी नहीं दे रहा था। बाद में एसटीएफ ने एक एक कर उसके सामने सबूत रखे। सीसीटीवी फुटेज और अन्य सबूतों के आधार पर जब पूछताछ शुरु हुई तो गौरव परेशान हो उठा। एसटीएफ ने गौरव से सख्ती दिखाई तो उसके सामने सच उगलने के अलावा कोई और चारा नहीं था।

एसटीएफ अब गौरव चौहान से सघन पूछताछ कर कुछ और राज सामने लाना चाहती है। इस पूरे मामले में कोई बड़ा अधिकारी या सफेदपोश तो शामिल नहीं है इसके भी जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here