चाबी बनाने के बहाने घरों में घुसकर चोरी करने वाले दो शातिर चढ़े पुलिस के हत्थे

देहरादून-ताला ठीक करने के बहाने लोगों के घरों में घुसकर चोरी करने वाले दो शातिर चोरों को पटेलनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शातिरों के पास से पटेलनगर क्षेत्र में तीन घरों में हुई चोरी के लाखों के सोने-चांदी के जेवर व नकदी बरामद की गई है।

कोतवाली पटेलनगर प्रभारी रितेश शाह ने बताया कि बीती 22 मार्च को पटेलनगर निवासी हरदीप सिंह पुत्र महेंद्र सिंह ने कोतवाली में तहरीर दी थी। जिसमें उन्होंने दो लोगों पर ताला ठीक करने के बहाने घर में घुसकर लॉकर से ज्वेलरी और नकदी चोरी करने का आरोप लगाया था। तहरीर के बाद मुकदमा दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू कर दी गई।

इसके लिए एसएसआइ विपिन बहुगुणा व चौकी प्रभारी बाजार नरोत्तम बिष्ट के नेतृत्व में टीम गठित की गई। टीम की ओर से आसपास के लगभग 30 सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। फुटेज में दो लोग घटनास्थल के आसपास संदिग्ध रूप से घूमते नजर आए।

शनिवार को कोतवाली पुलिस क्षेत्र में चेकिंग के दौरान कमला पैलेस पर जीएमएस रोड से दो लोग आते दिखाई दिए। दोनों का चेहरा सीसीटीवी फुटेज में दिखे संदिग्धों से मेल खा रहा था। जब उन्हें रोककर पूछताछ की गई तो उनकी पहचान सतपाल सिंह पुत्र सरदार सिंह निवासी दंत नगर आजबा रोड बड़ौत गुजरात और सुरजीत सिंह पुत्र भगत सिंह निवासी आकाश नगर द्वारिका पुरी इंदौर मध्य प्रदेश के रूप में हुई।

तलाशी में उनके कब्जे से बड़ी मात्रा में सोने-चांदी के जेवर व नकदी बरामद हुई। पूछताछ में उन्होंने ये जेवर पटेलनगर क्षेत्र के विभिन्न घरों से चोरी करने की बात स्वीकारी। जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। शनिवार को ही आरोपितों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

ऐसे करते थे चोरी

दोनों आरोपित चाबियां बनाने का काम करते हैं। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि ताले, चाबियां बनाने के बहाने वो लोगों के घरों में जाते हैं। जिन घरों में कम लोग रहते हैं, वहां मौका देखकर वह लॉकर, आलमारियों में रखी नकदी और ज्वेलरी चोरी कर लेते हैं। जिन घरों में लोग अधिक रहते हैं, वहां घर की रेकी कर गेट के तालों की चाबी बना लेते थे और जब घर में कोई नहीं रहता, मौका देखकर वहां चोरी कर लेते थे।

एक सोने का हार, दो जोड़ी टॉप्स, एक चेन, एक मोती की माला, दो टॉप्स मोती जड़े हुए, एक मंगल सूत्र, एक मांगटीका, दो जोड़ी पायजेब, चार जोड़ी सोने के कड़े, पांच चांदी के सिक्के, 45 हजार रुपये नकदी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here