जेल में चरस पीते पकड़े गए दो बंदी, मां-बहन पर चरस पहुंचाने का शक

हल्द्वानी : जेल प्रशासन ने दो बंदियों को बैरक में चरस पीते हुए पकड़ा है। तलाशी के दौरान बंदियों के पास से दस ग्राम चरस भी बरामद हुई है। जिससे जेल प्रशासन हैरान है।

दरअसल, एक बंदी मुखबिर ने बैरक की दीवार की आड़ में दो बंदियों के चरस पीने की शिकायत की। इस पर जेलर के नेतृत्व में जवानों ने छापा मारकर दोनों बंदियों को चरस पीते पकड़ा। एक बंदी आदर्श नगर सरधना मेरठ निवासी सितेंद्र उर्फ सत्येंद्र और दूसरा इंदिरानगर हल्द्वानी निवासी शाहरुख उर्फ चेटा मलिक है।

शाहरुख की तलाशी में जेब से दस ग्राम चरस भी बरामद हुई है। इंदिरानगर निवासी शाहरुख उर्फ चेटा को हल्द्वानी पुलिस ने फरवरी में तमंचे के सथ गिरफ्तार किया था। 20 फरवरी को उसे न्यायालय के आदेश पर जेल में लाया गया। वहीं सतेंद्र के विरुद्ध काशीपुर थाने में हत्या और आर्म्स एक्ट के मुकदमे पंजीकृत हैं। वह 10 जून 2015 से जेल में है।

जेल सूत्रों के मुताबिक रविवार को शाहरुख से मुलाकात करने उसकी मां व बहन आई हुईं थीं। जेल प्रशासन को शक है कि उन्होंने ही शाहरुख को जेल कर्मियों की नजर से बचकर चरस मुहैया कराई। हीरानगर चौकी प्रभारी निर्मल लटवाल ने बताया कि न्यायालय से अनुमति लेकर शाहरुख और सतेंद्र से पूछताछ की जाएगी। यदि शाहरुख की मां व बहन की संलिप्तता मिली तो उनके विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here