बारिश से ढहे दो मकान और गौशालाएं, कई रास्ते भी बंद

रुद्रप्रयाग/चमोली : मानसून की बारिश के बाद से ही पहाड़ों में लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। मैदानी इलाकों में भी लोगों को परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश के लगभग सभी जिलों में बारिश हो रही है। जिससे केदारनाथ मार्ग पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे हैं। भूस्खलन की वजह से गंगोत्री हाईवे भी बंद रहा। दूसरी ओर दो आवासीय भवन और दो गौशालाएं बारिश की वजह से ढह गईं। गनीमत नहीं कि दोनों मकानों में कोई मौजूद नहीं था।

पिछले एक सप्ताह से लगातार बारिश का दौर जारी है। बारिश के चलते शहरों में जलभराव ने लोगों को परेशान किया हुआ है। वहीं, पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन से लोग खासे परेशान हैं। केदारनाथ पैदल रास्ते में भीमबली और लिनचोली के बीच बड़े-बड़े बोल्डर गिर रहे हैं। मार्ग पर तीन दिन पहले दो लोगों की मौत का मामला भी सामने आ चुका है।

चमोली जिले में घाट ब्लाक के मल्ला-कांडा गांव में बारिश के कारण दो आवासीय भवन क्षतिग्रस्त हो गए। उस वक्त इन घरों में कोई नहीं था। ऐसे में एक हादसा टल गया। दो गौशालाएं भी बारिश के कारण ढह गई। पीपलकोटी इलाके में बरसाती नाले के पानी के साथ आया मलबा नगर पंचायत के कर्मचारियों के घरों में घुस गया। जिससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here