सेना भर्ती में पकड़े गए तीन और मुन्ना भाई, नशे की गोलियां और इंजेक्शन भी बरामद

चंपावत के बनबसा में चल रही सेना भर्ती में मंगलवार को सात युवकों को फर्जी दस्तावेज के साथ पकड़ा गया था जो की यूपी और हरियाणा के निवासी थे जिन्होंने उत्तराखंड के दस्तावेज फर्जी तरीके से बनाए थे. वहीं एक बार फिर से मिलिट्री इंटेलिजेंस और खुफिया विभागों की टीम ने तीन और मुन्ना भाई पकड़े गए हैं जिनके दस्तावेज फर्जी हैं और साथ ही उनके पास से नशे की गोलियां और इन्जेक्शन भी बरामद किए गए हैं. टीमें लगातार पकड़े गए युवकों से पूछताछ कर रही है.

वहीं एक बार फिर से मिलिट्री इंटेलिजेंस और खुफिया विभागों की टीम ने बुधवार को भी तीन युवकों को फर्जी दस्तावेजों के साथ पकड़ा है। तीनों अल्मोड़ा जिले के युवाओं के लिए हो रही भर्ती में भाग लेने पहुंचे थे। बता दें कि भर्ती रैली के दौरान तीनों संदिग्ध हालात में घूमते पकड़े गए थए लिया। उनसे उत्तराखंड हाईस्कूल के वर्ष 2019 के प्रमाणपत्र के अलावा स्थायी निवास, चरित्र प्रमाणपत्र, जाति और अविवाहित प्रमाणपत्र मिले हैं जो की जांच में फर्जी पाए गए.

मिली जानकारी के अनुसार पकड़े गए युवकों की पहचान निवासी बुलंदशहर के रूप में हुई है। उनसे तीन मोबाइल फोन, नशे के इंजेक्शन और गोलियां भी बरामद हुईं हैं। आरोपियों ने बताया कि बुलंदशहर निवासी किसी प्रवीण कुमार ने उन्हें उत्तराखंड बोर्ड के फर्जी दस्तावेज बनाकर दिए हैं।

थानाध्यक्ष जसवीर सिंह चौहान ने बताया कि पकड़े गए युवकों से जांच एजेंसियां पूछताछ कर रहीं हैं। आशंका है कि उनके साथ कुछ और युवक भी सेना भर्ती को यहां आए होंगे। फिलहाल पुलिस ने किसी तरह की कानूनी कार्रवाई से इनकार किया है। उक्त युवकों के स्थायी निवास प्रमाणपत्र में अरारी रानीखेत का पता दर्शाया गया है। उनके वास्तविक और अन्य प्रमाणपत्रों में नाम भी अलग-अलग हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here