य़े महिला प्रोफेसर हर महीने अपनी सेलरी से करेंगी देश के सैनिकों की आर्थिक मदद

देश की सरहदों की सुरक्षा के लिए जान की बाजी लगाने वाले जवानों के लिए पंतनगर विवि के कुक्कुट फार्म के भंडारक रजनीश पांडेय और एसोसिएट प्रो. डॉ. रुचिरा तिवारी ने आर्थिक सहयोग की पहल की है।

डॉ. रुचिरा हर माह वेतन में से पांच फीसदी राशि विवि के माध्यम भारतीय सेना के खाते में भेजेंगी और यह क्रम सेवानिवृत्ति तक चलेगा। वहीं, रजनीश भी एक फीसदी वेतन सेना के खाते में देंगे। रजनीश की पहल से प्रेरित होकर डॉ. रुचिका ने यह कदम उठाया है।

प्रो. डॉ. रुचिरा ने बताया कि 1994 में उन्होंने विवि से एमएससी किया था। 1996-98 तक इबाराकी यूनिवर्सिटी टोकियो जापान में रिसर्चर पद पर रहीं और जनवरी 2000 में पंतनगर विवि से कीट विज्ञान विभाग में पीएचडी की और फिर 2006 से विवि में ही सहायक प्रोफेसर के पद पर ज्वाइनिंग हो गई थी।

पिछले साल वह एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर पदोन्नत हुई।  उनके पति डॉ. मनीष श्रीवास्तव भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली में प्रिंसिपल साइंटिस्ट हैं। कहती हैं कि सेना की वजह से हम लोग सुरक्षित जीवन जी पाते हैं। उनका मन आर्मी के जवानों की मदद का था, लेकिन मदद की प्रक्रिया की जानकारी नहीं थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here