सोशल मीडिया पर स्टार बना भारतीय सेना का कुत्ता ‘जारी’, कर दिखाया बड़ा काम

भारतीय सेना में बहादुर जवान हैं जो की सीमा पर रहकर देश की सेवा औऱ रक्षा कर रहे हैं और कई ऐसे बहादुर जवान है जिन्होंने देश की रक्षा के लिए अपनी जान की कुर्बानी दी है. लेकिन क्या आप जानते हैं भारतीय सैनिकों के साथ सेना के  ‘डॉग्स’ का भी सेना में देश की रक्षा में अहम योगदान होता हैं. और ये कोई आम कुत्ते नहीं होते बल्की खासा ट्रैनिंग से इनको गुजारा जाता है और कई तरह के कामो को अंजाम देने के लिए प्रशिक्षित किया जाता हैं.

आर्मी के जवानों के लिए लाडला बना जारी

ऐसे ही ट्रेनिंग से गुजरे जारी नाम का कुत्ता सोशल मीडिया पर स्टार बन गया है. दरअसल ‘जारी’ नाम का एक आर्मी डॉग को सोशल मीडिया पर लोगों की खूब तारीफ़ मिल रही हैं. आर्मी के जवानों के लिए तो ये लाडला बना हुआ हैं. बात ये हैं कि इस कुत्ते ने कुछ ऐसा काम कर दिखाया हैं जिसके कारण कई लोगो की जान बची हैं.

भारी मात्रा में मिले हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक

दरअसल भारतीय सेना में भर्ती ‘जारी’ नाम के इस कुत्ते ने असं में हथियारों का एक बड़ा जखीरा खोज निकाला हैं. जारी एक ट्रैकर कुत्ता हैं. इसने नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड के मेंबर्स के द्वारा छिपाए गए खतरनाक हथियारों को ढूंढने का काम किया हैं. बोडोलैंड टेरिटोरियल एरिया डिस्ट्रिक्ट्स के पनबारी रिजर्व फॉरेस्ट में चलाए गए इस ऑपरेशन में कुत्ते की मदद से सुरक्षा बलों को भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक मिले हैं. बताते चले कि ये ऑपरेशन सेना, पुलिस और एसएसबी का जॉइंट ऑपरेशन था.

सही रास्ता दिखाने और सटीक लोकेशन देने का काम आर्मी कैनाइन ‘जारी’ ने किया

वहीं गुवाहाटी रक्षा विभाग के जनसंपर्क अधिकारी पी खोंगसाई ने बताया कि हमें गुप्त सुचना मिली थी कि यहाँ भारी संख्या में हथियार छिपाए गए हैं. ऐसे में असम पुलिस और एसएसबी की 54 बटालियन ने एक साथ मिलकर ऑपरेशन स्टार्ट किया. इस काम में टीम को सही रास्ता दिखाने और सटीक लोकेशन देने का काम आर्मी कैनाइन ‘जारी’ ने किया. उसकी बताई जगह पर खुदाई करने के बाद जवानों ने कई प्रकार के हथियार, गोला-बारूद, विस्फोटक और युद्ध के छिपे हुए कैश बरमाद किए.

सही लोकेशन बताने के बाद करीब आधे घंटे खुदाई चली

जानकारी के अनुसार इस ऑपरेशन के बाद विरोधियों (एनडीएफबी) को बड़ा झटका लगा हैं. यह ऑपरेशन बीते सोमवार करीब 5 बजे किया गया था. जारी कुत्ते के द्वारा सही लोकेशन बताने के बाद करीब आधे घंटे खुदाई चली. इस खुदाई में 20 राइफल, 56 7.64 AK सीरीज गोला बारूद, 20 स्नाइपर, 83 कारतूस, चार पिस्टल मैगजीन, 17 किलोग्राम विस्फोटक और एक रेडियो मिला. उधर सोशल मीडिया पर इस खबर के वायरल होते ही जारी नाम का ये डॉग एक सोशल मीडिया स्टार बन गया. लोग इस कुत्ते की जमकर तारीफें करने लगे. यहाँ तक कि भारतीय सेना की पूर्वी कमान ने भी जारी के काम की प्रशंसा की.

उन्होंने ट्वीट कर बताया कि छिपे हुए हथियार तलाशने में इंडियन आर्मी के ट्रैकर डॉग ‘जारी’ का योगदान काफी अहम रहा हैं. अब जारी एक सोशल मीडिया हीरो बन गया हैं. गौरतलब हैं कि इंडियन आर्मी असर अपने अच्छे कामो से तारीफें बटोरती रहती हैं. लेकिन इस बार इस कुत्ते ने भी बाजी मारते हुए सुर्खियाँ बटोरी हैं. हमें उम्मीद हैं कि जारी नाम का ये कुत्ता भविष्य में भी इसी तरह के और अच्छे काम कर इंडियन आर्मी की मदद करता रहेगा. यदि आपको ये आर्मी डॉग का काम पसंद आया तो इसे शेयर करना ना भूले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here