अपने 10 हजार कर्मचारियों की छंटनी कर ये कंपनी दिखाएगी बाहर का रास्ता

jobless
भारत में सरकारी नौकरियों में भी जितनी भर्तियां निकलनी चाहिए थी उतनी नहीं निकल रही हैं। ऐसे में शिक्षित युवा निजी कंपनियों में अपना भविष्य संवारने की कोशिश करे रहे थे। लेकिन अब इन कंपनियों में भी उनका भविष्य सुरक्षित नजर नहीं आ रहा है। पहले ट्विटर, फिर फेसबुक ने हजारों कर्मचारियों को अपनी कंपनी से बाहर का रास्ता दिखाया वहीं अब अमेजन भी यही कदम उठाने जा रहा है।

मशहूर टेक amazon company अमेजन ने आने वाले दिनों में 10,000 लोगों की छंटनी करने की योजना बनाई है। ट्विटर और मेटा के बाद टेक कंपनियों की दुनिया में लोगों की नौकरियों पर संकट मंडरा रहा है। अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेजन ने इस हफ्ते छंटनी की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ट्विटर के बाद हाल ही में फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने घोषणा की थी कि वह 11,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी करेगी। कंपनी लागत को कम करने के लिए यह छंटनी की जाएगी। जानकारों का अनुमान है कि वर्ष 2023 में दुनियाभर में भारी मंदी का दौर देखने को मिल सकता है।

अमेजन के हार्डवेयर प्रमुख डेव लिम्प ने बुधवार को कर्मचारियों को एक पत्र में कहा, “समीक्षाओं के एक गहरे सेट के बाद, हमने हाल ही में कुछ टीमों और कार्यक्रमों को समेकित करने का फैसला लिया है। इन फैसलों में से एक परिणाम यह है कि अब कुछ भूमिकाओं की आवश्यकता नहीं होगी। उन्होंने कहा कि मुझे यह खबर देते हुए बहुत दुख हो रहा है, क्योंकि हम जानते हैं कि इसके परिणामस्वरूप हम डिवाइसेस एंड सर्विसेज ऑर्ग से प्रतिभाशाली अमेजोनियन खो देंगे। लिम्प ने कहा कि कंपनी ने प्रभावित कर्मचारियों को अधिसूचित किया है और नई भूमिकाएं खोजने में सहायता प्रदान करेंगे। प्रत्येक व्यक्ति के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने इस सप्ताह रिपोर्ट दी थी कि अमेजन कॉर्पाेरेट और प्रौद्योगिकी भूमिकाओं में लगभग 10,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना बना रहा है। रिपोर्ट में कहा गया था कि कंपनी के इतिहास में कटौती सबसे बड़ी होगी। अमेज़न के प्रवक्ता केली नैनटेल ने कहा कि वार्षिक परिचालन योजना समीक्षा प्रक्रिया के हिस्से के रूप में, कुछ भूमिकाएँ अब आवश्यक नहीं हैं।

बता दें अमेज़न के अलावा, यूएस टेक दिग्गज मेटा और ट्विटर ने भी बड़े पैमाने पर छंटनी की घोषणा की है और हजारों कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। हाल ही में ।उं्रवद के संस्थापक जेफ बेजोस ने सीएनएन को बताया था कि वह अपनी जिंदगी भर की कमाई में अपने 124 डॉलर बिलियन यानी कि लगभग 10,04,100 करोड़ रुपये की कुल संपत्ति का अधिकांश हिस्सा दान में देने का प्लान बना रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here