रुस से मंगाया गया था वायुसेना का ये विमान, 26/11 में हुआ था इसका इस्तेमाल

तमिलनाडु के कुन्नूर में वायुसेना का हेलीकॉप्टर MI 17 v5 दुर्घटनाग्रस्त हुआ है जिससे देश में सनसनी फैल गई है। वायुसेना के विमान में सीडीएस बिपिन रावत, उनके पत्नी समेत कई कर्मचारी सवार थे. हेलीकॉप्टर में कुल 14 लोग सवार थे। वहीं तमिलनाडू सरकार ने 8 लोगों की मौत की पुष्टि की है। बता दें कि तमिलनाडू के वन मंत्री ने इसकी अधिकारिक पुष्टि की है। 5 लोग गंभीर रुप से घायल हैं। इनमे बिपिन रावत भी घायल हैं जो की गंभीर रुप से घायल है।

तमिलनाडु के नीलगिरी ज़िले के कुन्नूर में हुआ हादसा

बता दें कि वायुसेना का विमान तमिलनाडु के नीलगिरी ज़िले के कुन्नूर में हुआ. हेलिकॉप्टर सुलुर के आर्मी बेस से निकला था. जनरल रावत को लेकर यह हेलिकॉप्टर वेलिंगटन सैन्य ठिकाने की ओर बढ़ रहा था. बिपिन रावत की पत्नी को लेकर कोई अपडेट नहीं मिला है।

सीडीएस बिपिन रावत वेलिंगटन में एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे

जानकारी मिली है कि सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी के साथ वेलिंगटन में एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे. वेलिंग्टन में आर्म्ड फोर्सेज का कॉलेज है. यहां सीडीएस रावत को लेक्चर था. वे सुलूर से कुन्नूर जा रहा था. यहां से उन्हें दिल्ली के लिए रवाना होना था. लेकिन नीलगिरीर के पहाड़ से विमान टकराया और घने जंगल में यह हादसा हो गया है. हालांकि, अभी तक आर्मी ने कोई बयान जारी नहीं किया है.

वहीं बता दें कि बिपिन रावत गंभीर रुप से घायल हुए हैं जिनका इलाज जारी है। टीवी चैनलों की खबर के अनुसार बिपिन रावत 80 प्रतिशत से ज्यादा झुलस गए हैं। वो गंभीर रुप से घायल हैं।जानकारी मिली है कि सीडीएस बिपिन रावत के दिल्ली स्थित घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उनके घर उनके रिश्तेदारों और दोस्तों का आने का सिलसिला शुरु हो गया है। दिल्ली पुलिस ने घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी है।

रुस से मंगाया गया था विमान

आपको बता दें कि अचानक दुर्घटना ग्रस्त हुए इस विमान को रुस से मंगाया गया है. खासतौर पर एमआई MI 17 v 5 विमान को काफी सुरक्षित समझा जाता है. इसके बावजूद विमान का क्रैश करना अपने आप में बड़ा सवाल है. तो आइए जानते हैं कि सुरक्षित माने जाना वाला इस विमान की खासियत क्या है?

26/11 में हुआ था इस्तेमाल

वायुसेना का एमआई 17 वी 5 कई आधुनिक तकनीकों के साथ बनाया गया है. इसका इस्तेमाल सेना के कई महत्वपूर्ण अभियानों में हुआ है. वहीं, 26/11 में भी कमांडो ऑपरेशन में भी इसका इस्तेमाल हुआ था.2008 के मुंबई आतंकी हमले के दौरान एनएसजी कमांडो इसी हेलिकॉप्टर्स के जरिए कोलाबा में आतंकियों के खिलाफ उतारा गया था. इसके अलावा 2016 में जम्मू-कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तानी लॉन्च पैड को तबाह करने के लिए भी इसका इस्तेमाल हुआ है. फिलहाल भारत के पास 150 से ज्यादा एमआई 17 वी5 हेलिकॉप्टर्स हैं. आखिरी विमान 2016 में रूस ने भारत को सौंपा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here