महिला कांस्टेबल ने दून SSP का हंसता हुआ चेहरा कागज पर उतारा जैसे मानो परछाई हो

देहरादून(दीपिका रावत) : उत्तराखंड पुलिस में महिला कांस्टेबल सुनीता नेगी की पेंटिंग की चर्चाएं सोशल मीडिया पर चलती रहती है. आए दिन सुनीता नेगी अपनी हाथों की कला का जादू कागज पर उतार कर आम जनता तक पहुंचाती रही हैं और अपनी कला के लिए सुर्खियां बटोर चुकी हैं. अभी तक सुनीता नेगी कई दिग्गज हस्तियों जैसे पीएम मोदी, अभिनेत्री रेखा, अभिनेता अमिताभ बच्चन, सीएम त्रिवेंद्र रावत, राज्यपाल बेबी रानी मौर्य पूर्व एसएसपी निवेदिता कुकरेती समेत कई दिग्गजों का चेहरा हूबहू कागज पर अपनी पेंसिल आर्ट के जरिए उतार चुकी हैं. वहीं पलायन का दर्द भी सुनीत अपने आर्ट के जरिए बयां कर चुकी हैं.

देहरादून एसएसपी की बनाई पेंसिल आर्ट के जरिए तस्वीर 

और इस बार एक बार फिर से महिला सिपाही ने अपनी कला का जादू बिखेरा है जिसे सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जा रहा है औऱ शेयर भी किया जा रहा है. जी हां सुनीत नेगी ने देहरादून के नए एसएसपी अरुण मोहन जोशी का हंसता हुआ चेहरा हूबहू कागज पर उतारा है मानों जैसे एसएसपी की ही परछाई हो. सुनीता नेगी की पेंसिल आर्ट का क्या कहना ऐसा लगता है मानो किसी इंसान की परछाई कागज पर पड़ी हो. सुनीता अब तक कई दिग्गजों के चेहरों को कागज पर उतार चुकी है और इसके लिए सुनीता को दिल्ली में सम्मानित भी किया गया है.

तस्वीर के साथ लिखी ये पोस्ट

फेसबुक पर पेंसिल आर्ट की तस्वीर को शेयर करते हुए सुनीता नेगी ने लिखा कि यदि कोई युवक अपने शिक्षा–काल में सदाचारी रहकर जीवन व्यतीत कर लेता है तो यह समझ लेना चाहिए कि वह जीवन-भर के लिए कुछ बन गया | उस काल में प्राप्त हुई सिद्धि उसके महान ऐश्वर्य के समान है |

आपको बता दे सुनीता नेगी पुलिस मुख्यालय देहरादून में तैनात हैं. अपनी ड्यूटी से थोड़ा समय निकालकर सुनीता अपनी हस्त कला का जादू बिखेरती हैं. अपनी व्यस्तता भरी पुलिस की नौकरी से समय निकाल कर इतना उम्दा काम करना काबिले तारीफ है.

उम्मीद है कि दून एसएसपी को सुनीता की पेंटिंग जरुर भाएगी औऱ एसएसपी ने जरुर सुनीता को धन्यवाद कहा होगा.

पुलिस कांस्टेबल सुनीता की पेंटिंग पहाड़ में अकेले-बेबस वृद्धों के दर्द को बयां करती है

पुलिस कांस्टेबल सुनीता की पेंटिंग पहाड़ में अकेले-बेबस वृद्धों के दर्द को बयां करती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here